राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में शुक्रवार को आतंकियों ने दो हमले किए। आतंकियों ने सैन्य शिविर पर ग्रेनेड फेंका। इस दौरान आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में क्रॉस फायरिंग की चपेट में आने से छह माह से गर्भवती महिला की मौत हो गई।

इस हमले से कुछ समय पहले आतंकियों ने पुलवामा जिले के काकपोरा में सीआरपीएफ के 183 बटालियन के शिविर पर भी ग्रेनेड से हमला किया, लेकिन इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ। इन हमलों के बाद भाग निकले आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली है।

जानकारी के अनुसार, शाम करीब सात बजे आतंकियों ने पुलवामा के शादीमर्ग इलाके में स्थित सेना की 44 आरआर के शिविर पर पहले यूबीजीएल से ग्रेनेड दागे। ग्रेनेड शिविर के बाहरी हिस्से में गिरकर फटे, लेकिन इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ। शिविर में मौजूद जवान जैसे ही मौके पर पहुंचे, बाहर घात लगाकर बैठे आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी।

जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया। दोनों तरफ से करीब पांच मिनट तक गोलियां चली और उसके बाद आतंकी वहां से भाग निकले। इस दौरान एक स्थानीय महिला फिरदौसा क्रॉस फायरिंग की चपेट में आकर जख्मी हो गई। उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया।

सुरक्षाबलों ने शिविर के आसपास के इलाके की घेराबंदी करते हुए हमले में शामिल आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया, जो देर रात जारी रहा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप