जम्मू, जेएनएन। श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर स्थित रामबन में भूस्खलन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गई। मृतकों की पहयान असिस्टेंट एकाउंट आफिसर प्रमोद मनकोटिया निवासी हिमाचल प्रदेश और संजीत लकारा निवासी पश्चिम बंगाल के रूप में हुई। यह हादसा उस समय पेश आया जब ये दोनों राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने के कारण पैदल ही भूस्खलन वाले क्षेत्र को पार कर रहे थे।

रामबन के मारूग इलाके में भूस्खलन के कारण रास्ता वाहनों के लिए बंद किया हुआ था। भूस्खलन वाले इस रास्ते को लोग पैदल ही पार कर रहे थे। जैसे ही प्रमोद और संजीत ने इस मार्ग को पैदल पार करना शुरू किया तभी अचानक भूस्खलन हुआ और दोनों उसकी चपेट में आ गए। देखेते ही देखते दोनों पहाड़ी से गिरी मिट्टी और चट्टानों में दब गए। स्थानीय लोगों व बीआरओ कर्मचारियों ने बचाव कार्य शुरू किया परंतु मलवा अधिक होने के कारण दोनों लोगों को समय रहते बाहर नहीं निकाला जा सका। मलवे से शवों को निकाल जिला अस्पताल रामबन पहुंचा दिया गया है। पुलिस ने भी इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है।

वहीं जिला किश्तवाड़ के द्रबुल छातरू क्षेत्र में 12 वर्षीय एक युवक करण सिंह पुत्र अशोक कुमार की भी हिमस्खलन की चपेट में आने से मौत हो गई। बचाव दल ने सूचना मिलते ही युवक को बचाने के लिए राहत कार्य शुरू किया परंतु जब तक उसे बर्फ से बाहर निकाला गया उसकी मौत हो चुकी थी।  

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस