जम्मू, जागरण संवाददाता : सड़क हादसों का मुख्य कारण तेज गति से वाहनों का चलाना है। ऐसे में तय गति से अधिक गति से वाहन चलाने वाले चालकों के विरुद्ध ट्रैफिक पुलिस जम्मू ने वीरवार से एक विशेष अभियान शुरू किया है। इसके तहत मात्र एक दिन में एक सौ के अधिक चालकों के जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के नगरोटा और सिदड़ा इलाके में चालान काटे गए। वाहनों की गति को मापने के लिए ट्रैफिक अधिकारियों ने स्पीड रडार गन का प्रयोग किया। इस मशीन की मदद से पुलिस कर्मी सामने आ रहे वाहन की गति को रिकार्ड कर लेते हैं। यदि चालक अपने वाहन की गति को देखना चाहता है तो उसका रिकार्ड भी इस मशीन में सुरक्षित रहता है।

जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के नगरोटा में नाके पर तैनात एसपी ट्रैफिक प्रदीप गोरिया ने कहा कि जम्मू शहर की बात करे तो एक समय में औसतन शहर की सड़कों पर तीन लाख से अधिक वाहन एक साथ दौड़ते हैं। इतने अधिक वाहनों को एक साथ संचालित करना ट्रैफिक कर्मियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। शहर में वाहनों की पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। सड़कें इस प्रकार से है कि वहां पार्किंग की जाए तो जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। कुछ दो पहिया वाहन चालक यातायात नियमों की घज्जियां उड़ा कर सरपट अपने वाहनों को दौड़ाते हैं। ऐसे चालकों के विरुद्ध पुलिस ने अब विशेष अभियान चलाया है।

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य सड़क हादसों से जाने वाली कीमती जान को बचाना है। आने वाले दिनों में ट्रैफिक पुलिस नियमों का उल्लंघन करने वालों से और सख्ती के साथ पेश आएगी। बढ़ी गर्मी के बावजूद शहर की सड़कों पर तीन सौ से अधिक ट्रैफिक कर्मी यातायात व्यवस्था को सुचारु बनाने के लिए तैनात है। वहीं, एसएसपी ट्रैफिक कौशल शर्मा ने बयान जारी कर यातायात नियमों का पालन ना करने वालों के विरुद्ध चलाए जा रहे इस विशेष अभियान में लोगों से सहयोग मांगा है, ताकि लोगों को भी जाम की स्थिति से निजात मिल पाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप