श्रीनगर, राज्य ब्यूरो । पुलिस ने एक माह पहले अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में लिप्त जैश-ए-मोहम्मद के तीन ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार कर लिया। तीनों से पूछताछ जारी है। 12 जून को अनंतनाग में केपी रोड पर शाम साढ़े चार बजे जैश के एक आतंकी ने सुरक्षाबलों की नाका पार्टी पर हमला किया था। पांच सीआरपीएफ कर्मी शहीद हो गए थे।

अनंतनाग के थाना प्रभारी अरशद खान भी आतंकी की गोली लगने से जख्मी हो गए थे। उन्होंने आतंकी को मार गिराने तक मैदान नहीं छोड़ा था। अरशद खान को अस्पताल ले जाया गया जहां वह 16 जून को जख्मों की ताव न सहते हुए चल बसे थे।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी गत माह जब कश्मीर के दौरे पर आए थे तो वह शहीद अरशद के परिजनों के साथ सांत्वना जताने उनके घर भी गए थे। एसएसपी रैंक के एक अधिकारी ने बताया कि केपी रोड पर हमले की गुत्थी सुलझाने के हमने एक विशेष जांच दल बनाया था।

जांच के दौरान हमने अनंतनाग और उसके साथ सटे इलाकों में सक्रिय आतंकियों के समर्थकों और ओवरग्राउंड वर्करों का पता लगाते हुए उनकी गतिविधियों की निगरानी शुरु की। इसके आधार पर हमने जैश के तीन ओवरग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार कर लिया। इन तीनों ने अब तक की पूछताछ में बताया कि हमला जैश ए मोहम्मद के एक पाकिस्तानी आतंकी ने किया था।

पाकिस्तानी आतंकी को जैश ए मोहम्मद के स्थानीय कमांडर फैयाज पुंजु ने पकड़े गए तीन ओवरग्राउंड वर्करों में से एक के घर में लाया था। हमला करने वाले आतंकी को लेकर तीनों ने अनंतनाग और उसके साथ सटे इलाकों में उन सभी जगहों की रैकी की थी,जहां हमला करने की योजना थी। तीनों से पूछताछ जारी है। 

Posted By: Preeti jha