जम्मू, राज्य ब्यूरो। केंद्र शासित जम्मू कश्मीर में लोगों को अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद शुरू हुए विकास के दौर के बारे में समझाने शनिवार को आए तीन मंत्रियों की मौसम ने राह रोक दी। उन्हें जम्मू लेकर आ रहे विमान को मौसम खराब होने के चलते श्रीनगर जाना पड़ा।

अलबत्ता, दोपहर बाद वह विमान से राज्य की शरदकालीन राजधानी जम्मू पहुंचे। पीएमओ में राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अश्विनी चौबे और संसदीय राज्यमंत्री अर्जुन मेघवाल का शनिवार को जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे का पहला दिन था। आज इन्हें जम्मू संभाग में विभिन्न जनसभाओं को संबोधित करना था। तीनों मंत्री नई दिल्ली से एक विमान में जम्मू के लिए रवाना हुए।

केंद्र शासित जम्मू कश्मीर में लोगों को अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद शुरू हुए विकास के दौर के बारे में समझाने शनिवार को आए तीन मंत्रियों की मौसम ने राह रोक दी। उन्हें जम्मू लेकर आ रहे विमान को मौसम खराब होने के चलते श्रीनगर जाना पड़ा। जम्मू में मौसम खराब होने और दृष्टयत: के अभाव के चलते उनके विमान को एयरपोर्ट पर उतरने की अनुमति नहीं मिली। उनके जहाज को श्रीनगर के लिए मोड़ दिया गया। अलबत्ता, मौसम में सुधार होने के बाद दो केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे और अर्जुन मेघवाल दोपहर 2:30 बजे और डॉ. जितेंद्र सिंह साढ़े तीन बजे श्रीनगर से जम्मू पहुंचे।

तीनों मंत्रियों के जम्मू आगमन में देरी के चलते उनके निर्धारित कार्यक्रमों को भी नए सिरे से शेड्यूल करना पड़ा।गौरतलब है कि केंद्र सरकार के 36 मंत्री 18 से 25 जनवरी तक जम्मू कश्मीर के विभिन्न इलाकों में क्रमानुसार दौरे कर स्थानीय लोगों को बीते पांच माह के बाद जम्मू कश्मीर में हुए विकास, केंद्र सरकार द्वारा स्थानीय लोगों के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए किए जा रहे कार्यो से अवगत कराएंगे। 

कश्मीरी पंडितों का निष्कासन दिवस: 19 की खौफनाक रात सोने नहीं देती, कई बुजुर्ग तो घर वापसी की आस में चल बसे

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस