राज्य ब्यूरो, जम्मू : दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में टेरीटोरियल सेना के जवान की अगवा कर मारने की पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी आतंकियों ने इस वर्ष दो और जवानों को अगवा कर मारा था।

इस वर्ष सितंबर में बांडीपोरा जिले के हाजिन में आतंकियों ने सीमा सुरक्षा बल के जवान मुहम्मद रमजान को अगवा करने का प्रयास किया था, लेकिन जब उसके परिजनों ने विरोध किया तो उन्होंने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें मुहम्मद रमजान शहीद हो गया था। वह भी उस समय छुट्टी पर था।

यही नहीं, मई में राजपूताना राइफल में तैनात ले. उमर फैयाज को भी इसी तरह शोपियां जिले में अगवा कर आतंकियों ने बेरहमी से मारा था। उमर शादी समारोह में भाग लेने गया था। आतंकियों ने उसे रास्ते से अगवा कर लिया था। दूसरे दिन गोलियों से छलनी उसका मिला था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस