राज्य ब्यूरो, जम्मू : जम्मू विश्वविद्यालय में नि:शुल्क वाईफाई, स्कालरशिप, लड़कियों के लिए अतिरिक्त हॉस्टल बनाने समेत अन्य मांगों को लेकर विद्यार्थियों और स्कालरों ने बुधवार दिनभर कैंपस का मुख्य गेट को बंद रखा। जैसे ही जम्मू विश्वविद्यालय खुला तो विभिन्न विभागों के स्कालर और विद्यार्थी कक्षाओं का बहिष्कार कर मुख्य गेट के बाहर पहुंच गए। विद्यार्थी मुख्य गेट के बाहर धरने पर बैठ गए और नारेबाजी शुरू कर दी।

विद्यार्थियों और स्कालरों ने कहा कि जम्मू विवि में वाईफाई की सुविधा नहीं मिल रही है, जबकि वाईफाई के लिए पैसे लिए जाते हैं। पीएचडी करने वाले हर स्कालर को स्कालरशिप देने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि विवि में सुविधाओं का भारी अभाव है। लड़कियों के लिए हॉस्टल कम है। एक हॉस्टल का काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है। विद्यार्थियों के गेट बंद करके धरने पर बैठने के कारण विवि प्रबंधन ने अध्यापकों, स्टाफ सदस्यों और विद्यार्थियों की गाड़ियों को कैंपस के पिछले बाहुफोर्ट की तरफ लगे गेट से निकाला। मुख्य गेट बंद होने के कारण स्टाफ को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। स्कालर राजेश चिब ने कहा कि वाईफाई के नाम पर विद्यार्थियों से एक एक हजार रुपये लिए जात हैं। यह सुविधा उन्हें नि:शुल्क मिलनी चाहिए। हर स्कालर को स्कालरशिप दी जानी चाहिए। राष्ट्रीय उच्चत्तर शिक्षा अभियान के तहत जम्मू विवि को एक सौ करोड़ रुपये मिले है। विवि को लड़कियों का हॉस्टल जल्द तैयार करना चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस