श्रीनगर, संवाद सहयोगी : मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के एक स्कूल में सोमवार को 11वीं कक्षा के एक छात्र की उसके सीनियर विद्यार्थियों द्वारा पिटाई करने का मामला सामने आया है। पिटाई से पीडि़त छात्र के एक कान का पर्दा फट गया है। उसे श्रीनगर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

स्कूल प्रशासन ने घटना को गंभीरता से लेते हुए तीन छात्रों को स्कूल से निलंबित किया है। साथ ही मामले की जांच के लिए कमेटी बना दी है। वहीं, पीडि़त छात्र के अभिभावकों का आरोप है कि सीनियर विद्यार्थियों ने रैगिंग ली है। फिलहाल, इस मामले में देर रात तक पुलिस में एफआइआर दर्ज नहीं कराई गई थी।

घटना गांदरबल जिले के मानसबल क्षेत्र में स्थित एक स्कूल की है। कुलगाम के लगवपोरा का रहने वाले दिलनवाज जहूर मलिक पुत्र जहूर अहमद मलिक ने इस स्कूल में 11वीं कक्षा में दाखिला लिया है। बताया जाता है कि सोमवार सुबह सीनियर विद्यार्थियों ने दिलनवाज व उसके कुछ सहपाठियों की रैगिंग के इरादे से स्कूल परिसर में घुठनों के बल चलने व छोटे बच्चों की तरह जमीन पर सरकते हुए चलने के लिए कहा। इस पर दिलनवाज ने आपत्ति जताई। इससे सीनियर विद्यार्थी भड़क गए और उन्होंने दिलनवाज की पिटाई शुरू कर दी। उन्होंने घूंसे और मुुक्के मारे। बताया जाता है कि एक घूंसा उसके दाएं कान पर पड़ा, जिससे उसमें खून रिसने लगा।

स्कूल प्रशासन ने घटना की सूचना मिलते ही दिलनवाज को श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल में भर्ती कराया। यहां डाक्टरों ने उसके अभिभावकों को बताया कि दाएं कान का पर्दा फट गया है और अब वह इस कान से सुन नहीं पाएगा।

स्कूल के एक अध्यापक ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की विस्तृत जांच के लिए एक कमेटी बनाई गई है। तीन विद्यार्थियों को फिलहाल निलंबित कर दिया है। उधर, दिलनवाज के अभिभावक मांग कर रहे हैं कि निलंबित किए गए तीनों विद्यार्थियों समेत उन विद्यार्थियों को भी स्कूल से बर्खास्त किया जाए जो रैगिंग कर जूनियर छात्रों को परेशान करते हैं। 

Edited By: Rahul Sharma