जम्मू, जागरण संवाददाता। राज्य में सक्रिय आतंकवाद ने यहां के युवाओं को तनाव ग्रस्त बनाने का काम किया है। ऐसे में राज्य के युवाओं के उज्जवल भविष्य के लिए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के एक अधिकारी ने कमान संभाली और युवाओं को कामयाबी के गुर सिखाने के लिए उन्हें निशुल्क कोचिंग देनी शुरू कर दी। जिनके बेहतर नतीजे भी अब सामने आने लगे है। इस आईपीएस अधिकारियों द्वारा दी गई कोचिंग हासिल किए कई युवाओं ने राज्य पुलिस में सब इंस्पेक्टर की नौकरी हासिल की। जिसके नतीजे कुछ समय पूर्व हीं घोषित हुए है।

वर्ष 2011 बैंच के आईपीएस अधिकारी संदीप चौधरी इन दिनों कश्मीर घाटी के आतंकवाद ग्रस्त जिले शोपियां में बतौर एसएसपी तैनात है। शोपियां में पत्थरवाजी में संलिप्त युवाओं को जीना की असली राह दिखाने के मकसद से संदीप चौधरी आपरेशन ड्रीमर्स के तहत एक कोचिंग क्लास चला रहे है, जिसमें युवाओं को सिविल सर्विसेज की मुफ्त तैयारी करवाने के साथ बैंक में नौकरी हासिल के लिए लिखित परीक्षा देने के साथ इंटरव्यू को पास करने की ट्रेनिंग दे रहे है। रोजाना दो घंटे वह युवाओं को क्लास में कठिन परीक्षा को उत्तीर्ण करने के गुर रहे है।

संदीप चौधरी ने युवाओं को निशुल्क कोचिंग देने का काम जम्मू में एसपी सिटी साउथ में तैनात रहते हुए शुरू की थी। जिसमें युवाओं को रोजगार पाने में मदद करने के साथ उन्हें अच्छा नागरिक बनाने बारे प्रेरित किया जाता था। कश्मीर घाटी में तबादले के बाद भी व्यस्त दिनचर्या के बावजूद संदीप चौधरी ने कोचिंग क्लास को अपने जीवन का हिस्सा बना लिया है।

संदीप चौधरी पंजाब के फिरोजपुर जिला के रहने वाले है। वर्ष 2011 में पहले हीं प्रयास में उन्होंने आईपीएस की परीक्षा पास कर ली थी। संदीप चौधरी ने बताया कि उन्होंने इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी से एमए की परीक्षा पास की है। संदीप का कहना है कि राज्य में बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है। रोजगार दिलवाने में युवाओं की मदद करने को अपने जीवन का लक्ष्य बना लिया है। संदीप के अनुसार देश में कई निजी कोचिंग सेंटर मोटी फीस लेते है, जिसे दे पाना हरेक युवा के संभव नहीं है। सिविल सर्विसेज जैसी परीक्षा को क्रैक करने के लिए युवाओं को कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस