जागरण संवाददाता, जम्मू : शहर के बाजारों व थोक मंडियों में गर्मी की छुट्टियों का सिलसिला वीरवार से शुरू हो गया। अब अगले दस दिन तक शहर के विभिन्न बाजारों में अलग-अलग दिन दुकानें गर्मी की छुंिट्टयों के लिए बंद रहेगी। शहर में गर्मियों की छुट्टियों का सिलसिला वीरवार को थोक मंडी वेयर हाउस, नेहरू मार्केट व कनक मंडी के साथ शुरू हुआ। इसके अलावा पुराने शहर के पुरानी मंडी, लिक रोड, पटेल बाजार, पक्का डंगा व मोती बाजार में भी दुकानें आज से तीन दिन के लिए बंद हो गई। यह बाजार अब सोमवार को खुलेंगे।

पुराने शहर में पुरानी मंडी, लिक रोड व पटेल तो आज बंद रहे लेकिन राजतिलक रोड, सुपर बाजार व साथ लगते बाजारों में दुकानें खुली रही। ये बाजार अब अगले सप्ताह बंद होंगे। इस कारण पुराने शहर में वीरवार को खरीदारों की कुछ चहल-पहल रही। पिछले साल ये सभी बाजार एक साथ बंद हुए थे जिस कारण पूरे क्षेत्र में वीरानगी पड़ गई थी। लिहाजा इस बार आधे बाजार पहले व आधे बाद में गर्मियों की छुट्टियों के लिए बंद हो रहे हैं। अगले सप्ताह 26 से 30 जून तक शहर के विभिन्न हिस्सों में स्थित स्वर्णकारों व सर्राफों की दुकानें बंद रहेगी तो इसी दौरान 28 से 30 जून तक थोक सब्जी-फल मंडियां भी बंद रहेगी।

----------------

जैन बाजार से शुरू हुई थी प्रथा

एक दशक पूर्व पुराने शहर के जैन बाजार से गर्मियों के दिनों में दुकानें बंद रखने की प्रथा शुरू हुई थी। जैन बाजार में अधिकतर दुकानें सोने-चांदी के जेवरों का काम करने वाले व्यापारियों व कारीगरों की है। सबसे पहले यहीं पर दुकानदारों ने आपसी सहमति से दो दिनों के लिए दुकानें बंद करने का सिलसिला शुरू किया जिसे बाद में तीन दिन के लिए बढ़ा दिया गया। जब कुछ सालों तक ये दुकानें हर साल गर्मियों में तीन दिनों के लिए बंद रहने लगी तो इन्हें देखकर दूसरे बाजारों में भी एसोसिएशंस ने गर्मियों में तीन से चार दिनों तक बाजार बंद रखने का फैसला लिया। धीरे-धीरे यह प्रथा गांधी नगर व जम्मू साऊथ के अन्य क्षेत्रों में भी शुरू हो गई और आज शहर का लगभग हर बाजार गर्मियों में दो से चार दिनों के लिए बंद होता है।

---------------

लाइफ स्टाइल में बदलाव भी है कारण

समय के साथ शहरवासियों के बदलते लाइफ स्टाइल ने भी गर्मियों में दुकानें बंद रखने की प्रथा को बल दिया। आमतौर पर एक दुकानदार सुबह से रात तक दुकान पर काम करता है और परिवार के लिए उसके पास सप्ताह में केवल एक रविवार या शुक्रवार ही रहता है। जून के इस महीने में बच्चों को भी स्कूलों में छुट्टियां रहती है। पहले लोग अपनी सुविधा अनुसार अपनी दुकान बंद करके परिवार के साथ समय बिताने का प्रयास करते थे लेकिन अब सबको पता है कि बाजार बंद रहने है, लिहाजा वे अपने बाजार की छुट्टियों के अनुसार ही परिवार संग घूमने-फिरने की योजना बनाते हैं।

------------------

पत्नीटाप-भद्रवाह में उमड़ रही सबसे अधिक भीड़

यूं तो गर्मियों की इन छुट्टियों के दौरान शहर के लोग अपने बजट व पसंद अनुसार ही पर्यटन स्थलों की ओर निकल रहे हैं लेकिन जम्मू में सबसे अधिक भीड़ पत्नीटाप व भद्रवाह में उमड़ रही है। शहरवासियों के लिए सबसे निकटतम पर्यटन स्थल पत्नीटाप है, लिहाजा लोगों ने पहले से ही अपनी बुकिग करवा रखी थी। पत्नीटाप में तो अगले दस दिनों में अधिकतर होटल बुक है और कुद में भी होटल में कमरों के लिए मारामारी है। उधर भद्रवाह में भी पर्यटकों की अच्छी-खासी भीड़ थी जिसमें अब स्थानीय पर्यटकों की भीड़ भी जुड़ने वाली है।

--------------------

हाईवे पर जाम की स्थिति कर रही परेशान

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग की खस्ताहालत व पर्यटकों के वाहनों की भारी आमद से ट्रैफिक जाम की स्थिति बन रही है जो आने वाले दिनों में और बढ़ने की संभावना है। वीरवार को भी चिनैनी के पास ट्रैफिक जाम की स्थिति रही और आगे सोमवार से भी कई बाजार एक साथ बंद हो रहे हैं। हिमाचल प्रदेश के बाद अधिकतर लोग पत्नीटाप, भद्रवाह या कश्मीर की ओर ही रुख करेंगे। अगले कुछ दिनों तक मौसम विभाग ने भी बारिश की संभावना जताई है। ऐसे में अगर हाईवे में किसी तरह की रुकावट आती है तो पर्यटकों को काफी दिक्कतें झेलनी पड़ सकती है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप