श्रीनगर, जेएनएन : दक्षिण कश्मीर के जिला शोपियां के चैक नौगाम इलाके में देर शाम से जारी मुठभेड़ अब थम चुकी है। रात अंधेरे का लाभ उठाकर आतंकी मुठभेड़ स्थल से भाग निकले। सुरक्षाबलों ने सुबह होते ही इलाके में एक बार फिर सर्च ऑपरेशन चलाया परंतु घंटों चले इस अभियान में कोई सफलता नहीं मिल पाई है। पुलिस का कहना है कि आतंकी गांव से बाहर निकलने में सफल रहे। लिहाजा सुरक्षाकर्मी सर्च ऑपरेशन समाप्त कर वापस लौट गए।गत बुधवार को शुरू हुई इस मुठभेड़ में तीन जवान घायल हो गए थे। उन्हें इलाज के लिए सेना के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार गणतंत्र दिवस के दिन शाम को सुरक्षाबलों को यह सूचना मिली कि चैक नौगाम इलाके में कुछ आतंकवादी छिपे हुए हैं। एसओजी केे जवान सेना व सीआरपीएफ केे संयुक्त दल के साथ मौके पर पहुंच गए और आतंकवादियों की तलाश शुरू कर दी। तभी एक घर में छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों को अपने नजदीक आते देख गोलीबारी शुरू कर दी। इस हमले में सेना के तीन जवान सोमवीर कुमार, मयंक सिंह और सुनील कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल जवानों को सेना के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं रात होते देख सेना ने जवाबी कार्रवाई के बीच मुठभेड़ स्थल पर रोशनी की व्यवस्था की। रात भर दोनों ओर से रूक-रूककर गोलीबारी होती रही। आज सुबह अचानक से गोलीबारी का सिलसिला थम गया। सुरक्षाबलों ने अभियान को फिर जारी रखते हुए जैसे ही मुठभेड़ स्थल की घेराबंदी कर आतंकियों की तलाश शुरू की तो वहां कोई भी आतंकी मौजूद नहीं था। पुलिस का कहना है कि रात अंधेरे का लाभ उठाकर आतंकी वहां से भाग निकले। वहां दो से तीन आतंकियों के मौजूद होने की आशंका जताई जा रही थी। ये आतंकी स्थानीय बताए जा रहे हैं।

सुरक्षाबलों ने आशंका जताई है कि ये आतंकी चैक नौगाम गांव से निकल किसी दूसरे गांव में चले गए हैं। फिलहाल सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन को समाप्त कर दिया है और आसपास के इलाकों में स्थित अपने सूचना तंत्रों को सचेत रहने के लिए कहा। आतंकियों के फिर से देखे जाने की सूचना के बाद सुरक्षाकर्मी उनकी धरपकड़े के लिए फिर से अभियान चलाएंगे। सर्च ऑपरेशन को समाप्त कर सभी सुरक्षाकर्मी अपनी-अपनी यूनिटों में वापस लौट गए हैं।

Edited By: Rahul Sharma