जम्मू, जागरण संवाददाता: जम्मू नगर निगम की पब्लिक हेल्थ एंड सैनिटेशन कमेटी के चेयरमैन बलदेव सिंह बलोरिया ने सरकार से कोविड-19 मृतकों के दाह संस्कार के लिए श्मशानघाट आरक्षित करने की अधिसूचना जारी करे, ताकि भविष्य में कोई परेशानी न हो।

वे कोरोना मरीज और उनके रिश्तेदारों की मौत के कारण पैदा हुई स्थिति के बारे में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। बलोरिया ने बताया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जम्मू नगर निगम और अन्य संबंधित विभागों ने सराहनीय काम किया है, लेकिन वीरवार को हुई घटना ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। कोरोना के एक मरीज की मौत हो गई। जब परिजन शव का अंतिम संस्कार करने गए तो उन्हें दाह संस्कार की अनुमति नहीं दी गई और वे संस्कार के लिए सिद्दड़ा में तवी नदी किनारे गए। इस दौरान दो रिश्तेदार, जो पूरे समय पीपीई किट पहने हुए थे, बेहोश हो गए। अंतत: अत्यधिक गर्मी और दम घुटने के कारण उनकी मृत्यु हो गई।

बलोरिया ने कहा कि सरकार को कोविड-19 से मरने वालों के दाह संस्कार के लिए आरक्षित किए जाने वाले श्मशान घाटों को अधिसूचित करना चाहिए, ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटनाएं न हों। उन्होंने सरकार से भी आग्रह किया कि दोनों युवकों की मृत्यु के बारे में प्रशासन की ओर से लापरवाही का पता लगाने के लिए मामले की जांच की जाए। मृतक के परिवार को मुआवजा दिया जाए। परिवार के सदस्यों को सरकारी नौकरी प्रदान की जाए और शेष परिवार के सदस्यों और उनके लिए एक आवासीय क्वार्टर के लिए अनुरोध किया है।

पीड़ित परिवार के प्रति जताई शोक संवेदना

कोरोना संक्रमित व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने गए दो भतीजों की मौत पर आल स्टेट कश्मीरी पंडित समाज ने गहरा दुख प्रकट किया है। बैठक में प्रधान रविन्द्र रैना ने कहा कि यह दिल को दहला देने वाली घटना है। इससे प्रशासन की पोल खुल रही है। उन्होंने कहा कि लोगों ने सरकार की व्यवस्था के खिलाफ प्रदर्शन किया है। प्रशासन को चाहिए था कि वह इंसानियत के दायरे को बनाकर रखती। उन्होंने शोकग्रस्त परिजनों के साथ अपनी संवेदना प्रकट की है। मानवता का प्रशासन ने कहीं भी ख्याल नहीं रखा। सिद्दड़ा तवी ग्राउंड में जो कुछ गुजरा उसने पूरे प्रशासन पर सवाल खड़ा कर दिया है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने दो लोगों की मौत की जांच के लिए प्रदर्शन

कोरोना संक्रमित मरीज का अंतिम संस्कार करने गए दो लोगों की मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री रमण भल्ला के नेतृत्व में कार्यकर्ता शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय शहीदी चौक जम्मू के बाहर इकट्ठा हुए। भल्ला ने कहा कि प्रशासन का रवैया पूरी तरह से गैर जिम्मेदाराना रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस और मेडिकल टीमें अपनी ड्यूटी निभाने में विफल रही हैं। योगेश साहनी ने कहा कि दो लोगों की मौत होना दुखद घटना है। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए कि वहां पर प्रशासन का रवैया गैर जिम्मेदाराना कैसे हो सकता है। पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए मजिस्ट्रेट जांच काफी नहीं है। सिख यूनाइटेड फ्रंट के चेयरमैन सुदर्शन सिंह वजीर की अध्यक्षता में हुई बैठक में सदस्यों ने कहा कि इस घटना से प्रशासन की लापरवाही उजागर हुई है। प्रशासन का रवैया गैर जिम्मेदाराना था। मामले की जांच के लिए विशेष जांच टीम का गठन किया जाए।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021