श्रीनगर, जेएनएन। स्कूल शिक्षा विभाग ने घाटी में आठवीं कक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। अनुच्छेद-370 और केंद्र शासित प्रदेश घोषित होने के आदेश के बीच तीन महीने तक घाटी में हालात असामान्य रहने के बावजूद भी बच्चों ने परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन दिखाया। श्रीनगर के निजी व सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 98 प्रतिशत बच्चों ने परीक्षाओं को पास कर नौंवी कक्षा में प्रवेश पा लिया है। हालांकि जो बच्चे परीक्षाओं में पास नहीं हो पाए हैं, उनके लिए भी शिक्षा विभाग ने विशेष कक्षाएं शुरू करने की घोषणाएं की है। इन कक्षाओं में पढ़ाई से संबंधित अपनी दिक्कतों को दूर करने के बाद ये बच्चे मार्च में फिर से परीक्षाओं में बैठ सकते हैं।

अगस्त के पहले सप्ताह में ही प्रशासन ने एहतियातन कश्मीर के सभी शिक्षण संस्थान बंद कर दिए थे। अक्तूबर में चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को खोलने का सिलसिला शुरू हुआ। हालात में दिन-प्रतिदिन होते सुधार को देखते हुए शिक्षा विभाग ने नवंबर मध्य में परीक्षाएं घोषित कर दी। राष्ट्रविरोधी तत्वों, अलगाववादी नेताओं और आतंकवादियों की चेतावनी को दरकिनार कर 99.5 प्रतिशत बच्चे परीक्षा में बैठे। हालांकि इस दौरान अभिभावकों में डर पैदा करने के लिए आतंकवादियों ने परीक्षा केंद्र के बाद ग्रेनेड हमले भी किए।

स्कूल शिक्षा विभाग के अनुसार आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं में घाटी के 84273 बच्चे ने परीक्षा दी और इनमें से 82562 बच्चे पास हुए। बोर्ड अधिकारी ने बताया कि जो बच्चे परीक्षाओं में पास नहीं हो पाए हैं, उनके लिए सर्दियों की छुट्टियों में विशेष कक्षाएं आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। अध्यापक इस दौरान बच्चों की दिक्कतों को दूर करेंगे। यही नहीं अगले साल मार्च में इन बच्चों को फिर से परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा। इन बच्चों को नौंवी कक्षाओं में तभी बैठने की इजाजत दी जाएगी जब वे ये परीक्षा पास कर लेंगे।

बोर्ड एक अधिकारी ने यह भी बताया कि अध्यापकों को पहले ही यह चेतावनी दी गई है कि यदि उनके विषय का रिजल्ट सौ प्रतिशत नहीं रहता है, तो उन्हें निलंबन का सामना करना पड़ेगा या फिर उनकी इंक्रीमेंट नहीं की जाएगी। उन्हें परिणाम में बेहतरी लाने के लिए परीक्षा में फेल होने वाले छात्रों के लिए विशेष सत्र शुरू करने की हिदायत भी दी गई है। कश्मीर में इंटरनेट बंद होने के कारण बच्चे अपना रिजल्ट नहीं देख पा रहे हैं। ऐसे में विभाग ने बच्चों से कहा है कि वह डिस्ट्रिक इंस्टीट्यूट आफ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग कार्यालय में जाकर अपना रिजल्ट चैक कर सकते हैं।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस