जम्मू, जागरण संवाददाता : अनुसूचित जाति, जनजाति व पिछड़े वर्ग के लोगों की नौकरियों का बैक लॉग कोटा नहीं भरने को लेकर नेशनल एससी, एसटी, ओबीसी स्टूडेंटस एंड यूथ फ्रंट के कार्यकर्ताओं ने अंबेडकर चौक में प्रदर्शन किया व जम्मू-कश्मीर प्रशासन और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए। इन कार्यकर्ताओं ने कहा कि आरक्षित वर्ग से संबंधित 1.04 लाख पदों को आज तक भरा नहीं गया है। इससे आरक्षित वर्ग के लोगों को नुकसान हो रहा है। वहीं कार्यकर्ताओं ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन की कड़ी निंदा की, जिसने सब-इंस्पेक्टर की नौकरियों में एससी, एसटी, ओबीसी के युवाओं को आयु सीमा में छूट नहीं दी।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने आरक्षण अधिनियमों की अवहेलना की है और इसे किसी भी हाल में सहन नहीं किया जाएगा। मौके पर कार्यकर्ताओं ने मांग की कि जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में ऐसे ही आरक्षण नियमों का लाभ दिया जाए जैसे कि अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में है। मौके पर संबोधित करते हुए आरके कल्सोत्रा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुसूचित जाति, जनजाति व पिछड़ी जाति वर्ग के लोगों के साथ अनदेखी हो रही है। सरकार की मंशा दिख रही है कि वह आरक्षण को खत्म करने की दिशा में काम कर रही है, लेकिन हम लोग ऐसा नहीं होने देंगे। जम्मू-कश्मीर के आरक्षित वर्ग के लोगों को अपने अधिकारों को लेकर जागरूक होना होगा।

मौके पर युवा नेता तरुण परोच ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में हाल ही में सब इंस्पेक्टर के लिए मांग गए आवेदन में आरक्षित वर्ग के लिए आयु सीमा में छूट नहीं है। आरक्षण नियमों की यह सरेआम अवहेलना। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार ने हमें पूरे हक नहीं दिए तो हम आंदोलन को और तेज कर देंगे। प्रदर्शन में अनिल कुमार, आर्यन, साहिल परोच, पवन, सुनील कुमार, शाक्ति भाेगल, प्रीतम कुमार, हिमांशयू आदि उपस्थित थे।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra