राज्य ब्यूरो, जम्मू : स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्तीय आयुक्त ने शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज व सहायक अस्पतालों में कई निर्माण कार्यो का उद्घाटन किया। इनमें पुनर्वास केंद्र, तीमारदारों के लिए प्रतीक्षा हॉल और चेस्ट डिजिजेस अस्पताल में विभिन्न वार्डो को आपस में जोड़ने के लिए कॉरिडोर शामिल हैं। उन्होंने इमरजेंसी में मरीजों के रश को कम करने पर जोर दिया।

वित्तीय आयुक्त अटल ढुल्लु ने मेडिकल कॉलेज के नर्सिग स्कूल में नेशनल हेल्थ मिशन की ओर से प्रायोजित स्किल लैब का भी उद्घाटन किया। इसमें डॉक्टरों, नर्सिग स्टाफ और पैरामेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा। बाद में वित्तीय आयुक्त ने सीडी अस्पताल के साथ बन रहे 200 बिस्तरों के बोन एंड ज्वाइंट अस्पताल और जीएमसी में बन रहे सौ बिस्तरों वाले इमरजेंसी ब्लॉक का भी निरीक्षण किया।

उन्होंने निर्माण एजेंसियों से समय पर काम पूरा करने को कहा ताकि इमरजेंसी में मरीजों के रश को कम किया जा सके। बाद में अटल ढुल्लु ने सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का दौरा कर वहां आइसीयू, सीसीयू व डायलिसेस यूनिट का निरीक्षण किया। उन्होंने मरीजों व तीमारदारों से सुविधाओं के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने जीएमसी और सहायक अस्पतालों में सुविधाओं के विस्तार पर संतोष जताते हुए मरीजों को हर संभव सुविधा देने के लिए कहा।

प्रिसिपल जीएमसी डॉ. सुनंदा रैना ने आश्वासन दिया कि मरीजों को हर सुविधा उपलब्ध करवाने का प्रयास होगा। उन्होंने निर्माण कार्यो में समय पर फंड उपलब्ध करवाने के लिए भी वित्त विभाग की सराहना की। इस मौके पर सीडी अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. राजेश्वर शर्मा, जीएमसी के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. दारा सिंह, एसएमजीएस अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. मनोज चलोत्रा और सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. अरुण शर्मा सहित कई विभागों के एचओडी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस