संवाद सहयोगी, मीरां साहिब : मुख्य बाजार में करीब 50 मीटर सड़क खस्ताहाल होने से हमेशा हादसे की आशंका रहती है। दुकानदारों ने सड़क पर तारकोल डालकर पक्का करने की प्रशासन से मांग की है।

बाजार में सड़क के जर्जर होने से काफी समय से दुकानदारों के साथ आने-जाने वाले लोग भी परेशान होते हैं। बाजार में जरूरी सामग्री की खरीदारी के लिए आसपास के दर्जनों गांवों के लेकर भी नियमित यहां आते हैं। सड़क की दुर्दशा से सभी परेशान हैं। कई बार शिकायत के बाद भी अधिकारी इस गंभीर समस्या के समाधान की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। सड़क के बिखरे कंकर-पत्थर वाहनों की तेज रफ्तार के समय लोगों को घायल तो करते ही हैं, तेज धूप और हवा के दौरान धूल भी लोगों को परेशान करती है।

दुकानदार कृष्णलाल ने बताया कि 50 मीटर सड़क पर वर्षो पहले बिछाई तारकोल बिखर चुकी है। मार्ग इतना खस्ताहाल हो गया है कि एक जगह पर तो बड़ा गड्ढा भी बन गया है। वाहन चालक गिरकर घायल हो रहे हैं। लोगों के अनुसार मार्ग पर कंकर पत्थर नजर आ रहे हैं। जब कोई वाहन गुजरता है तो पत्थर छिट कर दुकानों में गिरते हैं या सड़क किनारे खड़ी गाड़ियों के शीशे तोड़ रहे हैं।

पं. पवन रैना, प्रदेश कांग्रेस सचिव ने बताया कि पीडब्ल्यूडी सड़कें पक्की बनाने को लेकर ज्यादा गंभीर नहीं है। आरएसपुरा क्षेत्र की अधिकतर सड़कें आज भी खस्ताहाल हैं। इसके बावजूद अधिकारियों के कान पर जूं नहीं रेंगती। मीरां साहब बाजार की मुख्य सड़क महीनों से खराब है।

स्थानीय निवासी संजीव शर्मा ने बताया कि क्षेत्र के लोगों की समस्या को देखते हुए अधिकारियों को चाहिए कि बाजार की खस्ताहाल सड़क के साथ ग्रामीण क्षेत्र की अन्य सड़कों पर भी बरसात से पहले तारकोल डालकर पक्का करवाएं।

स्थानीय निवासी अभि शर्मा ने बताया कि बार-बार ध्यान दिलाए जाने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं किए जाने से क्षेत्र के लोगों में नाराजगी है। यदि शीघ्र इसका समाधान नहीं होता तो लोगों को सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करना पड़ेगा।

भूपेंद्र कुमार, एईई, पीडब्ल्यूडी ने बताया कि बाजार की खस्ताहाल सड़क की मरम्मत के लिए प्रस्ताव बना कर उच्च अधिकारी को भेजा गया है। जल्द ही इसको पक्का किया जाएगा। इसके साथ अन्य जो ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें खराब हैं, उनको भी बरसात से पहले पक्का कर दिया जाए।

Edited By: Jagran