जम्मू, राज्य ब्यूरो । रेलवे और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल आज जम्मू के एक दिवसीय दौरे पर पहुंच गए हैं। वह कटड़ा से भवन के लिए रवाना होंगे और वहां पर मां वैष्णो के दर्शनों के बाद दोपहर बाद वापस जम्मू लौटेंगे। इस दौरान जम्मू में वह औद्योगिक संगठनों के पदाधिकारियों और उद्योगपतियों के साथ बैठक कर यहां पर निवेश की संभावना भी तलाशेंगे।

केंद्र शासित राज्य बनने के बाद वह जम्मू के पहले अधिकारिक दौरे पर आए हैं। वह कटड़ा से रियासी और रियासी से बनिहाल रेलवे लाइन को 2021 तक हर हालत में पूरा किए जाने पर रेलवे अधिकारियों से चर्चा करेंगे। बैठक में कटड़ा और रियासी के बीच में बन रहे सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज के निर्माण में आ रही दिक्कतों पर भी विस्तृत चर्चा होगी।

रियासी से बनिहाल तक रेल लाइन बिछा दी गई है। संभवता 2021 के अप्रैल महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कश्मीर घाटी को शेष भारत से रेल लाइन से जोड़ देने का उदघाटन कर सकते हैं। इसके अलावा जम्मू में मोनो रेल शुरू करने पर भी अहम फैसला हो सकता है। संभवता इस महत्वकांक्षी परियोजना पर शीघ्र निर्माण कार्य शुरू हो सकता है। इसके अलावा पीयूष गोयल जम्मू के उद्योगपतियों के साथ दोपहर बाद मुलाकात करेंगे। जिसमें केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद कई नामी गिरामी उद्योगपतियों द्वारा राज्य में उद्योग स्थापित करने के बारे में भी जानकारी उपलब्ध करवाएंगे।

फिरोजपुर डिवीजन के डीआरएम राजेश अग्रवाल का कहन है कि यह बैठक जम्मू कश्मीर के विकास और युवाओं को रोजगार देने के लिए है। इसमें जम्मू और कश्मीर में मोनो रेल पर भी खुलासा कर सकते हैं। रेल मंत्री के जम्मू दौरे को काफी अहम मारना जा रहा है। केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू-कश्मीर निजी निवेश को लेकर केंद्र सरकार काफी प्रयास कर रही है। अगले साल यहां पर निवेाक सम्मेलन भी आयोजित हो रहा है। ऐसे में जम्मू के उद्योगपतियों के साथ बैठक में उनकी राय भी ली जाएगी।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस