जम्मू, जागरण संवाददाता : बारीदार संघर्ष कमेटी कटड़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी लंबित पड़ी मांगों को शीघ्र मान लेने की अपील की है। जम्मू में एक पत्रकार वार्ता के दौरान कमेटी के प्रधान शाम सिंह ने कहा कि वर्ष 1986 में माता वैष्णाे देवी भवन में सेवा करने वाले बारीदार परिवार को तब की सरकार ने भवन से जबरन बाहर निकाल फेंका था। तब से अब तक बारीदार प्रदर्शन कर रहे, लेकिन किसी भी सरकार ने उनकी मांग नहीं सुनी।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे वादा किया था कि बारीदार को उनका अधिकार वापस दिलाए जाएंगे। उन्हें फिर से भवन में सेवा करने का मौका दिया जाएगा। लेकिन वादा कर प्रधानमंत्री अब भूल चुके है। उन्हें अपना वादा याद करवाने के लिए ही पत्रकारवार्ता का आयोजन किया गया है। इस दौरान शाम सिंह ने श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि मां वैष्णो देवी की पिंडियों के पास रखी देवी देवताओं की प्राचीन सोने की मूर्तियों को बोर्ड ने गायब कर दिया है।

इन प्राचीन और महंगी मूर्तियों को अधिकारियों और बोर्ड के सदस्यों को सौंप दिया गया है, जिससे हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंच रही है। उन्होंने सरकार से सोने की महंगी मूर्तियां गायब होने के मामले की जांच करवाने को कहा है। इतना ही नहीं उन्हें श्राइन बोर्ड पर यह भी आरोप लगाया कि मंदिर में चढ़ने वाले चढ़ावे से बोर्ड ने कटड़ा में विश्व विद्यालय और अस्पताल स्थापित किया है, लेकिन हिन्दुओं या आम लोगों को विश्व विद्यालय और अस्पताल में किसी प्रकार की छूट नहीं दी जा रही है।