श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। कश्मीर घाटी में बुधवार को पुलिसवालों का एक नया अवतार देखने को मिला। शायद ही कोई ऐसा अस्पताल रहा, जिसके प्रवेशद्वार पर पुलिसकर्मी हाथाें में फूल लिए डाॅक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों का स्वागत न किया हो। पुलिसकर्मियों ने डाॅक्टरों के सेवाभाव को सराहते हुए कोरोनो को हराने के उनके मिशन को पूरी तरह कामयाब बनाने में सहयोग प्रदान करने की अपनी संकल्पबद्धता दोहराई।

यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि घाटी में बीते कुछ दिनों के दौरान कई जगह प्रशासनिक पाबंदियों को लागू कराने के दौरान पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर डाॅक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मारपीट की। एक वरिष्ठ डाॅक्टर को पुलिस थाने में दिनभर बंद भी रखा गया। इस पर डाॅक्टरों ने सांकेतिक प्रदर्शन करते हुए पुलिस के रवैये पर कड़ा एतराज जताया। इस मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह और आईजीपी कश्मीर रेंज विजय कुमार ने सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अग्रिम मोर्चे पर लड़ रहे कोरोना यौद्धाओं को हर संभव सहयाेग प्रदान करें। इसके साथ ही सभी पुलिस अधिकारी अपने-अपने क्षेत्राधिकार में डाॅक्टरों व अन्य वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ लगातार संवाद बनाए रखते हुए कोरोना को हराने व लाकडाउन को प्रभावी बनाने में उनके सहयोग को भी सुनिश्चित बनाते हुए उनकी हर संभव मदद करें।

आज सुबह शेर-ए-कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान सौरा, एसएमएचएस अस्पताल कर्ण नगर, ललदेद अस्पताल वजीर बाग, जेएलएनएम अस्पताल रैनावारी श्रीनगर में ही नहीं बारामुला, सोपोर, कुपवाड़ा, हंदवाड़ा, लंगेट, मागाम, बडगाम, छत्रगाम, शोपियां, कुलगाम, अनंतनाग, पुलवामा, त्राल समेत वादी के सभी प्रमुख शहरों और कस्बों में आज प्रत्येक अस्पताल में पुलिस अधिकारी और जवान डाॅक्टरों का स्वागत करने के लिए मौजूद रहे। पुलिस अधिकारियों और कर्मियों ने डाॅक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को गुलदस्ते भेंट कर, सलाम ठोक कर उनका स्वागत किया। सभी पुलिस के इस बदले रवैये से हैरान व प्रसन्न थे।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम सभी अच्छी तरह जानते और समझते हैं कि डाॅक्टर किसी मसीहा से कम नहीं है। मौजूदा हालात में जिस तरह से खुद संक्रमित होने के खतरे की आशंका के बावजूद कोरोना से पीड़ितों का इलाज कर रहे हैं, वह काबिले तारीफ है। पुलिस का हर जवान और अधिकारी डाॅक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों की दिल से इज्जत करता है, हम उनका पूरा सम्मान करते हैं। मानवता के प्रति उनके सेवाभाव के प्रति अपना आभार जताने और उनका मनोबल बढ़ाने के लिए ही हमने आज यह आयोजन किया है। पुलिस संगठन कोरोना यौद्धाओं को हर संभव सहयोग प्रदान करने को संकल्पबद्ध हैं। 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस