जागरण संवाददाता, जम्मू : पाकिस्तान के कब्जे वाले क्षेत्र के विस्थापित लोगों की संस्था पीओजेके डिस्प्लेस्ड रिफ्यूजी फ्रंट के सदस्यों ने प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। इन लोगों का कहना है कि विस्थापित लोगों के साथ इंसाफ नही हो पा रहा। जहां एक ओर कई लोगों की मुआवजे की फाइलें निपट नही पाई हैं तो वहीं विस्थापित लोगों की लंबित मांगों पर भी गौर नही किया जा रहा। इन लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। वहीं दूसरी ओर कहा कि विस्थापित लोगों को उनके हक दिए जाएं। मौके पर संबोधित करते हुए प्रधान युद्धवीर सिंह चिब ने कहा कि पिछले 72 वर्षों से हम लोग परेशान हैं। सरकार हमारा अभी तक पुनर्वास नही कर पाई। इसलिए इन लोगों की मांग है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के विस्थापित लोगों को विधानसभा व लोकसभा में आरक्षण दिया जाए। जब हमारे प्रतिनिधि विधानसभा में होंगे तो वे विस्थापितों की आवाज को बुलंद करेंगे। उन्होंने कहा कि विधानसभा में आज भी गुलाम कश्मीर की सीटें खाली रखी जाती है, इनको विस्थापितों के अनुपात में भरा जा सकता है। वहीं दूसरी ओर मांग की गई कि प्रोफेशन कालेजों में हमारे बच्चों के लिए कोटा तय किया जाए। उन्होंने कि जब दूसरे विस्थापितों के बच्चों को प्रोफेशनल कालेजों में कोटा मिल सकता है तो हमारे बच्चों को क्यों नही। वहीं पीओजेके डिस्प्लेस्ड रिफ्यूजी फ्रंट के सदस्यों ने कहा कि अगर हमारी मांगे नही मानी गई तो आने वाले दिनों में और तेज आंदोलन होगा। विस्थापितों का कहना है कि उनकी मांगों को मान कर राहत दी जाए। इसके लिए वह काफी समय से अपना आंदोलन चला रहे हैं।

Edited By: Jagran