जम्मू, जागरण संवाददाता : आल जेएंडके प्लस टू लेक्चरर्स फोरम ने सरकार से शिक्षकों को घर से काम करने की मंजूरी मांगी है। फोरम के प्रधान दीपक शर्मा ने उपराज्यपाल से अपील की है कि वे कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उन्हें घर से काम करने की इजाजत दी जाए। इसके अलावा फोरम प्रधान दीपक शर्मा ने जम्मू कश्मीर के कार्यालयों में कर्मियों की हाजिरी पचास प्रतिशत रखी जाए और उनका रोस्टर तैयार किया जाए।

दीपक शर्मा का कहना है कि कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए सरकार को कुछ और कदम उठाने होंगे। अगर किसी इलाके में कोविड का मामला सामने आने के बाद वहां कंटेनेमेंट जोन बना दिया जाता है तो शिक्षकों को स्कूलों में बुलाना ठीक नहीं है। ऐसे में शिक्षकों को घरों से ही आनलाइन कक्षाएं चलाने की मंजूरी दी जाए ताकि वे भी सुरक्षित रहें और उनसे बच्चों को भी खतरा न हो। उनका कहना है कि प्लस टू लेक्चरर्स ने कभी भी उन्हें दी गई जिम्मेदारी से मुंह नहीं मोड़ा है और वे हमेशा ही आगे खड़ रहे हैं।

वहीं फोरम के कश्मीर प्रधान सईद फैयाज का भी कहना है कि स्कूलों में छुट्टियों के बाद भी शिक्षकों को स्कूलों में बुलाया जा रहा है जबकि उन्हें घरों से ही काम करने की इजाजत मिले। फोरम ने शिक्षकों की मांगों को भी पूरा करने की अपील शिक्षा सचिव बीके से की। दरअसल, जम्मू में कोरोना संक्रमण की स्थिति अब विस्फोटक हो गई है। शनिवार को जम्मू जिले में एक दिन में सबसे अधिक 685 मामले आए। पूरे जम्मू कश्मीर की बात करें तो पिछले 24 घंटों में प्रदेश में 3251 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। संक्रमण बढ़ता देख जांच भी तेज कर दिया गया है।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra