जागरण संवाददाता, जम्मू: पेशे से ट्रांसपोर्टर सुखविदर सिंह को अपनी स्कूटी सोशल साइट ओएलएक्स पर बेचने के लिए अपलोड करना मुसीबतों को न्योता देने जैसा हो गया। सोशल साइट से स्कूटी की फोटो को उठाकर साइबर ठग ने फेसबुक पर लगाकर उक्त स्कूटी को बेचने की पोस्ट चढ़ा दी। 50 हजार रुपये की स्कूटी का मूल्य ठगों ने 30 हजार रुपये डाला। फेसबुक पोस्ट को देखकर कई लोग ठगी का शिकार हो गए। उन्होंने ठग के बैंक खाते में हजारों रुपये जमा करवा दिए। फेसबुक पोस्ट देखकर ठगी का शिकार हुए कुछ लोगों ने सिटी पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया। चूंकि स्कूटी सुखविदर के नाम पर है, इसलिए पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया। सुखविदर को इस बात की भनक तक नहीं थी कि ओएलएक्स पर स्कूटी बेचने की पोस्ट चढ़ाने से वह इतनी बड़ी मुसीबत में फंस जाएंगे।

फोन करने वाले को विश्वास दिलाने के लिए की ठग उसे सीआइएसएफ सब इंस्पेक्टर का पहचान पत्र और आधार कार्ड भी भेजता है। जांच के दौरान दोनों कार्ड फर्जी पाए गए। उन पर लगी तस्वीर किसी और व्यक्ति की है, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं। वह मृत व्यक्ति की तस्वीर से बनाए गए फर्जी पहचान पत्र को स्कूटी बेचने के लिए प्रयोग करता है। यह फोटो ट्रांसपोर्टर सुखविदर के मृत भाई की है। फर्जी आइ कार्ड में ठग ने खुद को सुखविदर सिंह बताया है। पता फर्जी लिखा है, जबकि फोटो सुखविदर के मृत भाई की लगाई है। इसे संभवत: उसने सुखविदर के फेसबुक अकाउंट से निकाली होगी। -----------------------------

बैंक खाता और मोबाइल नंबर होने पर भी आरोपित पुलिस की पकड़ से दूर

पुलिस के पास फर्जी पोस्ट से लोगों को ठगने वाले व्यक्ति के बैंक खाते से जुड़ी सभी जानकारियां हैं। ठग का मोबाइल नंबर भी है, इसके बावजूद पुलिस ठग तक नहीं पहुंच पा रही है। मामले की जांच जारी होने की बात कहकर पुलिस अधिकारी इस बारे में बोलने से बच रहे हैं। ---------------------

खुद को सीआइएसएफ का सब इंस्पेक्टर बताता है ठग

स्कूटी की फेसबुक पोस्ट डालने वाले ठग ने अपना संपर्क नंबर दिया है। उसे जो भी फोन करता है, ठग उसे खुद को सीआइएसएफ का सब इंस्पेक्टर बताता है। उसने कुछ पीड़ितों को बताया कि उसकी तैनाती श्रीनगर हवाई अड्डे पर थी, जहां से अब उसका तबादला हो गया है। इसलिए वह स्कूटी बेचना चाहता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस