संवाद सहयोगी, सांबा : इस समय भीषण गर्मी के बीच 14 घंटे से ज्यादा बिजली कटौती होने से सांबा जिले के घगवाल क्षेत्र के लोग बेहद परेशान हैं। यहां दोपहर से ही बिजली की आंखमिचौली शुरू हो जाती है, जो दिन भर चलती रहती है। रात में भी कई बार बिजली कटौती होती है। ऐसे में लोग चैन की नींद भी नहीं ले पाते हैं।

इस संबंध में स्थानीय निवासी राजेश शर्मा का कहना था कि बिजली घर सांधी में यदि 20 एमवीए का ट्रांसफार्मर लगा दिया जाए तो ओवरलोडिंग की समस्या नहीं आएगी। क्षेत्र में कई लोग अब भी बिजली चोरी कर रहे हैं, जिनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, पंच तरसेम शर्मा का कहना है कि इन दिनों दस घंटे भी बिजली नहीं आती है। सरकार यदि ग्रामीणों से बिल लेती है तो उसे सप्लाई भी बेहतर करनी चाहिए।

ब्लाक डेवलपमेंट कौंसिल घगवाल के अध्यक्ष विजय टगोत्रा ने कहा कि बिजली विभाग के उच्च अधिकारियों को अघोषित कटौती के चलते अवगत कराए जाने पर लोड अधिक होने के लिए कहा जा रहा है। उन्होंने कहा है कि बैक टू विलेज 2 में जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर को भी 10 एमवीए के ट्रांसफार्मर को 20 एमवीए में बदलने को कहा गया था लेकिन अभी तक कोई बदलाव नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि इसका समाधान करना विभाग की जिम्मेदारी होने पर अनदेखी की जा रही, जिसके चलते आने वाले दिनों में घगवाल कस्बे में क्षेत्र के लोगों द्वारा विरोध-प्रदर्शन कर सरकार तक अपनी बात रखी जाएगी। विभाग उससे पहले ही बिजली आपूर्ति को ठीक कर दे। उन्होंने जिला उपयुक्त सांबा अनुराधा गुप्ता से संज्ञान लेने को कहा है। दुकानदार वरुण शर्मा का कहना है कि भीषण गर्मी ने पहले से ही बेहाल कर रखा है।

ऊपर से बिजली की आपूर्ति के प्रभावित रहने से काफी परेशानी बनी रहती है। फ्रिज में लगाई आइसक्रीम वा अन्य सामान खराब होने लगता है। कई बार तो किराये पर जनरेटर लाना पड़ता है हमारी प्रशासन से मांग है कि उप जिला घगवाल में बिजली आपूर्ति को ठीक किया जाए ताकि लोगों को राहत मिल सके।