जम्मू, राज्य ब्यूरो। जम्मू कश्मीर बैंक के कामकाज में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए पैंथर्स पार्टी ने प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए कहा कि बैंक कश्मीर केंद्रित पार्टियों पीडीपी और नेकां को बढ़ावा देता है लेकिन जम्मू को नजरअंदाज किया जाता है। आज तक बैंक का चेयरमैन जम्मू क्षेत्र से क्यों नहीं बनाया गया है।

पार्टी के चेयरमैन हर्षदेव सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ता बैंक के रेल हैड कांपलेक्स स्थित जोनल कार्यालय के बाहर पहुंचे और वहां पर बैनर लहराते हुए नारे लगाए। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए हर्षदेव सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर बैंक को आरटीआई के दायरे में लाने का पीडीपी और नेकां विरोध कर रही है। इन दोनों पार्टियों ने अपने निजी स्वार्थ और राजनीतिक फायदे के लिए बैंक का इस्तेमाल किया। एक निष्पक्ष जांच एजेंसी से बैंक के कामकाज की जांच करवानी चाहिए। बैंक का चेयरमैन नियुक्त करने के लिए कौन सी नीति है। आखिर बैंक का चेयरमैन कश्मीर क्षेत्र से ही क्यों बनाया जाता है। उन्होंने पूर्व पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार पर बैंक में भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद फैलाने का आरोप लगाया। जम्मू आधारित अस्थायी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को निकाल दिया गया है जबकि कश्मीर आधारित कर्मियों को स्थायी कर दिया है। इसे भेदभाव ही कहा जा सकता है।

जम्मू कश्मीर बैंक को आरटीआई के दायरे में लाने का फैसला राज्यपाल कर चुके है लेकिन बैंक आरटीआई से संबधित जानकारी देने में मना कर चुका है। बैंक में हुई नियुक्तियों के मामले की जांच करवाई जाए। प्रदर्शनकारियों में राजेश पडगोत्रा, पुरुषोत्तम परिहार, सुरेंद्र चौहान, केके शर्मा, विभीषण सिंह, निर्मल किशोर, रछपाल सिंह, उदयवीर सम्याल, रामपाल शर्मा, शंकर सिंह संजु, मान सिंह, साहिल शर्मा, कीर्ति फंगोत्रा, रघुबीर सिंह व अन्य शामिल थे।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस