फोटो 34 और 35 सहित

जागरण संवाददाता, जम्मू : दबलैड़ के पंचवटी मंदिर में शिवरात्रि का पर्व धार्मिक आस्था के साथ मनाया गया। महंत शाम गिरि जी की देखरेख में पूजा और आरती हुई, जिसमें सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। कैलाश पति शर्मा, पंडित राहुल शास्त्री द्वारा की गई विशेष आरती में शामिल सैकड़ों श्रद्धालुओं ने सुंजवां आतंकवादी हमले में मारे गये भारतीय जवानों की आत्मा की शांति के लिए भगवान शिव से प्रार्थना की।

वहीं, महंत शाम गिरि जी ने इस अवसर पर संगत को शिवरात्रि पर्व की महत्ता बारे जानकारी देते हुए कहा कि शिव भक्त पर भगवान भोलेनाथ की विशेष कृपा रहती है। वह मुश्किलों से दूर रहता है और उनके लिए हर असंभव कार्य भी संभव हो जाता है। शिवरात्रि शिव और शक्ति के अभिसरण का विशेष पर्व है। उन्होंने संगत से कहा कि हर महीने के कृष्ण पक्ष पर पड़ने वाली चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि के नाम से जाना जाता है।

कहते हैं कि महा शिवरात्रि के दिन मध्य रात्रि में भगवान शिव लिंग के रूप में प्रकट हुए थे। मान्यता तो यह भी है कि शिव लिंग की पहली बार पूजा अर्चना भगवान विष्णु और ब्रह्माजी द्वारा सम्पन्न हुई थी।

Posted By: Jagran