श्रीनगर, जेएनएन। सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को उत्तरी कश्मीर के शुटलु रफियाबाद में सात मिनट की मुठभेड़ में आठ दिन पुराने आतंकी को ढेर कर दिया गया। फिलहाल, उसके अन्य साथियों की तलाश जारी है। मारा गया आतंकी बारामुला जिले से बीते 10 दिनों में लापता हुए पांच लड़कों में एक है। उसके परिजनों ने कुछ दिन पहले ही पुलिस में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस बीच, सुरक्षाबलों ने गांदरबल के परिबल और चुनदना इलाके में आतंकियों के छिपे होने पर तलाशी अभियान चलाया भी चलाया।

पुलिस को पता चला था कि सोपोर से सटे रफियाबाद इलाके में तीन से चार आतंकी हैं। यह आतंकी शुटलू में किसी से मिलने वाले हैं। इसके बाद पुलिस के विशेष अभियान और सेना की 32 आरआर ने शुटलू की तरफ आने जाने वाले विभिन्न रास्तों पर नाके लगाए। एक नाके पर तैनात जवानों ने तीन संदिग्धों को देख उन्हें रुकने का संकेत किया। इन युवकों ने नाका तोड़ भागने का प्रयास करते हुए जवानों पर फायरिंग कर दी। जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। करीब सात मिनट बाद आतंकियों की तरफ से गोलियों की आवाज पूरी तरह बंद हो गई। जवानों ने तलाशी ली तो उन्हें वहां गोलियों से छलनी आतंकी का शव मिला। अन्य आतंकी वहां से बच निकले। मारा गया आतंकी मुदस्सर अहमद बट है। वह शुटलु गांव का रहने वाला था। पुलिस के अनुसार, वह जिला बारामुला के विभिन्न हिस्सों में गत 10 दिनों के दौरान लापता हुए पांच युवकों में शामिल था।

वह लापता होने के बाद ही आतंकियों से जा मिला था। उसके साथ लापता हुए अन्य चार युवकों फैयाज अहमद वार, गुलाम मोहिउद्दीन परे, वलीद अहमद मीर और अनायतुल्ला मीर के भी आतंकियों से जा मिलने की आशंका है। इस बीच, शुक्रवार की सुबह गांदरबल के चनदना-परिबल में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया। सुरक्षाबलों ने इसमें खोजी कुत्तों और ड्रोन की भी मदद ली। अलबत्ता, आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिलने पर तीन घंटे बाद घेराबंदी हटा ली गई।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021