जागरण संवाददाता, जम्मू: साइबर पुलिस स्टेशन जम्मू ने आनलाइन ठगी की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए एक लाख रुपये बचा लिए। शिकायतकर्ता विरेंद्र कुमार निवासी बसोहली, कठुआ ने इस मामले की शिकायत साइबर पुलिस स्टेशन जम्मू में दर्ज करवाई थी। इस पर एसएसपी संदीप मेहता के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए पैसों को उस कंपनी से वापस मंगवाया गया, जिसको आगे ठगों ने ट्रांसफर करवाया था।

शिकायतकर्ता विरेंद्र कुमार ने शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि उन्हें मोबाइल पर एक कॉल आई, जिसमें कॉल करने वाले ने उनके मोबाइल पर आई ओटीपी बताने को कहा। जैसे ही उसने ओटीपी शेयर की तो उसके अकाउंट से 99,402 रुपये एकदम निकल गए। वहीं, शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एसएसपी संदीप मेहता के नेतृत्व में इंस्पेक्टर मनोज गुप्ता ने जांच शुरू कर दी। उन्होंने इस पूरी राशि का रूट ट्रैक किया तो पता चला कि राशि आगमंट गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड मुंबई को ट्रांसफर हुई। इसके बाद साइबर पुलिस ने उक्त कंपनी से संपर्क कर पैसे को वापस खाता धारक को भेजने के निर्देश दिए। साइबर पुलिस के संपर्क करने के कुछ ही मिनट बाद एक लाख रुपया खाता धारक के खाते में पहुंच गया। पैसा वापस मिलने के बाद साइबर सेल उन ठगों का पता लगाने का प्रयास कर रहा है, जिसने शिकायतकर्ता से फोन पर संपर्क कर उससे ओटीपी लिया था। पुलिस इस बात का पता लगाने का प्रयास भी कर रही है कि ओटीपी से पहले ठगों ने पीड़ित के बैंक अकाउंट और डेबिट कार्ड की जानकारी कैसे हासिल की थी। एसएसपी संदीप मेहता ने लोगों से अपील की है कि वे अपने बैंक, डेबिट, क्रेडिट कार्ड की जानकारी साझा न करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस