श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। पूर्व डीएसपी देविंदर सिंह और आतंकियों के बीच जुड़े सभी तार खंगालने में जुटी एनआइए की टीम ने सोमवार को लगातार दूसरे दिन भी दक्षिण कश्मीर के शोपियां आैर कुपवाड़ा में छापेमारी की। इस दौरान टीम ने हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी उमर धोबी आैर ओवरग्राउंड वर्कर फारूक ठोकर के घर की तलाशी ली। इसके अलावा एनआइए की टीम ने पूवर् डीएसपी के त्राल स्थित पैतृक घर में भी छापा मारा।

कुपवाड़ा में जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के साथ पहुंची एनआइए की टीम ने गिरफ्तार आतंकवादी फैयाज अहमद मीर पुत्र सोनुवाला मीर के घर बमहामा आैर ताहिर अहमद डार पुत्र स्वर्गीय अब्दुल रशीद डार के घर जगरपोरा कुपवाड़ा में छापा मारा। एसएसपी कुपवाड़ा श्रीराम अंबकार ने एनआइए के इन छापों की पुष्टि करते हुए कहा कि इस संबंध में अभी कोइ भी अतिरिक्त जानकारी नहीं है।

इसके अलावा एनआइए की दूसरी टीमों में शामिल अधिकारियों ने दक्षिण कश्मीर के शोपियां और कुलगाम में आतंकियों के ठिकानों पर भी अपनी छापेमारी जारी रखी। संबधित सूत्रों ने बताया कि यह छापेमारी पूर्व डीएसपी देविंदर, आतकी नवीद मुश्ताक,रफी अहमद और इरफान से मिले सुरागों के आधार पर की जा रही है। 

11 जनवरी 2020 को दक्षिण कुलगाम में हिज्ब आतंकी नवीद मुश्ताफ और रफी अहमद व लश्कर के ओवरग्राउंड वर्कर इरफान राथर संग डीएसपी देविंदर सिंह को पुलिस ने पकड़ा था। उस समय डीएसपी देविंदर सिंह इन तीनों को एक कार में जम्मू पहुंचाने में जुटा हुआ था।

एनआईए का एक 20 सदस्यीय दल गत शनिवार को दोबारा इस मामले में छापेमारी के लिए श्रीनगर पहुंचा था। इतवार को एनआइए के टीम ने जैनपोरा शोपियां के रहने वाले आतंकी रफी अहमद राथर के अलावा लश्कर आतंकी आदिल हु़सैन और सरपंंच तारिक अहमद मीर के मकान के अलावा दो ओवरग्राउंड वर्करों के मकानों की तलाशी लेते हुए वहां से कई दस्तावेज जब्त किए हैं। जिस सरंपच के मकान की तलाशी ली गई है, उसका संबंध भाजपा से है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस