जम्मू, राज्य ब्यूरो : सेना की चौदह कोर के नए जीओसी, लेफ्टिनेंट जनरल आनिंदय सेनगुप्त ने नई जिम्मेवारी संभालने के बाद केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की सुरक्षा हालात का जायजा लिया। नए जिम्मेवारी संभालने वाले नए जीओसी कश्मीर में भी काफी समय तैनात रह चुके हैं।

कड़ी ठंड में इस समय लद्दाख में भारतीय सेना के जवान किसी भी प्रकार की चुनौती का सामना करने के लिए चीन, पाकिस्तान के सामने डटे हुए हैं। ऐसे हालात में लेफ्टिनेंट जनरल आनिंदय सेनगुप्त ने लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन से सेना की उत्तरी कमान की चौदह कोर के जीओसी की अहम जिम्मेवारी संभाल ली है। नए कोर कमांडर जल्द लद्दाख के दूरदराज इलाकों का दौरा कर वहां पर तैनात सेना के जवानों का हौंसला बढ़ाएगे।

नए जीओसी ने कोर के जवानों के लिए अपने संदेश में कहा है कि वे दुर्गम हालात, अत्याधिक ठंड में देशसेवा करते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए किसी भी प्रकार की चुनौती का सामना करने के लिए हरदम तैयार रहें। कोर कमांडर ने कहा है कि भारतीय सेना विश्व में सबसे अधिक चुनौनितों का सामना करने में सक्षम है। ऐसे में सेना के जवान कोई भी कार्य करते समय हमेशा देश को प्राथमिकता दें।

दिल्ली स्थित सेना मुख्यालय में स्ट्रेटेजिक प्लानिंग के महानिदेशक रहे लेफ्टिनेंट जनरल आनिंदय सेनगुप्त सेना में कई अहम पदों पर तैनात रह चुके हैं। आतंकवाद का सामना करने में खासा अनुभव रखने वाले नए जीओसी कश्मीर में एक इन्फैंटरी ब्रिगेड की कमान संभालने के साथ क्षेत्र में आतंकवाद का सामना करने कर रही सेना की विक्टर फोर्स के जीओसी की जिम्मेवारी भी संभाल चुके हैं। इसके साथ वह देश के बाहर संयुक्त राष्ट्र मिशन में भी एक इन्फैंटरी ब्रिगेड की कमान संभाल चुके हैं। 

Edited By: Rahul Sharma