जम्मू, जागरण संवाददाता। जम्मू-कश्मीर रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (जेकेआरटीसी) को घाटे से उबारने के लिए सरकार की ओर से सार्थक प्रयास शुरू हो गए हैं। जेकेआरटीसी के बेड़े में जल्द ही 500 नई बसें और ट्रक शामिल किए जाएंगे। अब तक 95 नई बसें प्रदेश में पहुंची चुकी हैं। इनका परिचालन एक सप्ताह के भीतर शुरू हो जाएगा।

जम्मू कश्मीर रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन के एमडी अंग्रेज सिंह ने बताया कि प्रदेश में 95 बसें पहुंच गई हैं। इनमें से 48 बसें एसी वाली हैं। इन नई बसों का रूट प्लान तैयार किया जा रहा है और उम्मीद है कि अगले सप्ताह इन्हें विभिन्न अंतर जिला रूट पर परिचालन के लिए दौड़ाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जेकेआरटीसी ने गत वर्ष 12 ऑनलाइन सेवाएं शुरू की हैं। इससे कारपोरेशन की बसों में सफर करने वाले मुसाफिरों को लाभ हो रहा है। अब घर बैठे ही ऑनलाइन के माध्यम से अंतर जिला रूट पर टिकट की बुकिंग भी शुरू हो गई है।

जेकेआरटीसी के एमडी अंग्रेज सिंह ने बताया कि मार्च 2021 तक 44 सीटर सेमी डीलक्स बसें, 20 सीटर डीलक्स बस, स्लीपर कोच और ट्रक सहित 250 बसों और ट्रको को जम्मू और कश्मीर में कारपोरेशन के बेड़े में शामिल करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लेकिन किन्हीं कारणों की वजह से मार्च तक नई बस और ट्रक को शामिल नहीं किया गया है। अब जल्द ही इस लक्ष्य को हासिल कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश की सरकार की ओर से कारपोरेशन को प्रोत्साहित करने के लिए काफी सहयोग किया जा रहा है। पुरानी बसों और ट्रक को हटाया जाएगा। मुसाफिरों की यात्रा को आरामदायक बनाने के लिए एसी बसें भी पहुंच गई है।

यहां यह बता दें कि जम्मू-कश्मीर रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन का गठन 1948 में 50 बसों से शुरू किया गया था। उस समय जेकेआरटीसी की बसें पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट का एक बेहतर माध्यम रही है।

Edited By: Vikas Abrol

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट