श्रीनगर, जेएनएन : जम्मू व कश्मीर में रात के तापमान में गिरावट लगातार जारी है। वहीं मौसम विज्ञानियों ने आज सोमवार रात से जम्मू के मैदानी इलाकों में हल्की बारिश जबकि कश्मीर के मैदानी इलाकों में हल्की बर्फबारी की संभावना जताई है। हालांकि जम्मू-कश्मीर में जनवरी के अंत तक किसी बड़ी बारिश या हिमपात का कोई पूर्वानुमान नहीं था। परंतु अब एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ का दबाव बनता दिख रहा है। आज रात और कल 18 जनवरी को एक बार फिर मौसम के हल्के बिगड़ने के आसार बन बने हुए हैं। इसके अलावा 21 और 22 जनवरी को भी हिमपात की संभावना है।

मौसम विभाग के अधिकारी ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दोनों में जनवरी के अंत तक किसी भी तरह की भारी बारिश व हिमपात का कोई पूर्वानुमान नहीं है।

जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में बीती रात का तापमान शून्य से नीचे 1.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आपको बता दें कि कश्मीर में 21 दिसंबर से चिल्लई कलां का दौर चल रहा है। 40 दिनों तक चलने वाले इस अवधि में सबसे कठोर सर्दी पड़ती है। बीस दिनों के बाद चिल्लई खुर्द और 10 दिनों के लिए ही चिल्लई बच्चा की अवधि होती है।

वहीं कश्मीर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 4.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। हालांकि यहां पिछली रात तापमान शून्य से 7.0 डिग्री सेल्सियस नीचे था। उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले के प्रसिद्ध रिसॉर्ट में तापमान सामान्य से 3.1 डिग्री सेल्सियस अधिक था।

उन्होंने कहा कि दक्षिण कश्मीर के प्रसिद्ध रिसॉर्ट पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 3.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि बीती रात यह शून्य से 5.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था। वहीं कश्मीर के प्रवेश द्वार काजीगुंड में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि पिछली रात का न्यूनतम तापमान शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस कम था। दक्षिण कश्मीर में भी कोकेरनाग में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि पिछली रात को न्यूनतम तापमान शून्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस नीचे था।

अधिकारी ने कहा कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा शहर में न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो पिछली रात शून्य से 2.1 डिग्री सेल्सियस कम था।

वहीं जम्मू की बात करें तो यहां पिछली रात के 8.4 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 9.0 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया, जो कि वर्ष के इस समय के दौरान जम्मू-कश्मीर की शीतकालीन राजधानी के लिए सामान्य से 1.9 डिग्री सेल्सियस अधिक है। अधिकारी ने कहा कि बनिहाल में न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस, कटरा में 7.2 डिग्री सेल्सियस और भद्रवाह में न्यूनतम 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

लद्दाख के लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से 13.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि कारगिल में स्वचालित स्टेशन पर पारा शून्य से 16.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था। साइबेरिया के बाद दुनिया के दूसरे सबसे ठंडे स्थान द्रास में न्यूनतम तापमान शून्य से 16.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि बीती रात का तापमान शून्य से 17.4 डिग्री सेल्सियस कम था।

मौसम विशेष ने कहा कि एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ के कारण जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बादल छाए हुए हैं।

Edited By: Rahul Sharma