रियासी, राजेश डोगरा: अयोध्या में श्रीराम लला मंदिर निर्माण के लिए 500 रुपये धन संग्रह में देने वाले लेखराज के घर मदद करने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है। वीरवार को राशन, कपड़े, कंबल, चादरें और न जाने क्या-क्या लेकर लोग लेखराज के परिवार के पास आ पहुंचे। कुछ लोगों ने घर बनाने के लिए सीमेंट, सरिया आदि भी देने का वादा किया है।

एक सप्ताह में ही लेखराज व उनके परिवार की हालत बदल चुकी है। कुछ दिन पहले लेखराज के परिवार के पास एक झोपड़ी और घरेलू सामान के नाम पर गिनी-चुनी चीजें ही थीं। आज इस परिवार के नाम पर एक कनाल पांच मरला भूमि, हजारों रुपये की नकद सहायता, राशन, कपड़े व अन्य उपहार तथा सामान इकट्ठा हो गया है। हालांकि सबसे मुख्य काम इनका मकान का होना अभी बाकी है, लेकिन इस परिवार की मदद के लिए जिस तरह हाथ बढ़ रहे हैं, उससे इस बात की उम्मीद हो चली है कि बहुत जल्द इनके मकान का निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा।

कांजली पंचायत के वार्ड नंबर छह के पंच हरबंस लाल ने बताया कि चर्चा में आए इस परिवार के बारे में सुनकर कई लोग इनकी मदद को आगे आ रहे हैं। वीरवार को जम्मू, कटड़ा सहित कुछ अन्य जगहों से लोग मदद के तौर पर कई तरह का सामान लेकर आए। कुछ दिन पहले की बात करें तो इस राह से कोई भी नहीं गुजरता था, लेकिन जबसे यह परिवार चर्चा में आया है, तबसे यहां प्रतिदिन मदद करने वालों की आवाजाही लगी हुई है। वीरवार को तो लेखराज के घर आने वालों का तांता लगा रहा। जिस तरह मदद के लिए हाथ बढ़ रहे हैं, उसे देखकर लेखराज व उनका परिवार खुद आश्चर्यचकित होकर रह गया है। उन्हें खुद समझ नहीं आ रहा कि आखिर हो क्या रहा है।

यह परिवार बार-बार यही कह रहा है कि यह प्रभु श्रीराम की कृपा दृष्टि है, जिसकी बदौलत एक सप्ताह में ही उनका कायाकल्प हो गया। पंच हरबंस लाल ने बताया कि वीरवार को तरह-तरह की सहायता लेकर पहुंचे कुछ लोगों ने लेखराज का मकान बनाने के लिए सीमेंट, सरिया आदि निर्माण सामग्री उपलब्ध करवाने का भी वादा किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह इस परिवार पर प्रभु श्रीराम की कृपा बरसने लगी है, उससे इनका अपना मकान बन जाने की भी उम्मीद बंध गई है।

दैनिक जागरण ने सबसे पहले लेखराज द्वारा 500 रुपये मंदिर निर्माण के लिए देने की खबर प्रकाशित की थी आतंकवाद के कारण वर्ष 1991 में डोडा से पलायन करने के बाद से लेखराज व उनका परिवार रियासी जिले की कांजली पंचायत के शपानू गांव में किसी द्वारा दी गई जमीन पर एक झोपड़ी बनाकर गुजारा कर रहा है। कुछ दिन पहले इस परिवार ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए अपनी हैसियत से कहीं अधिक 500 रुपये धन संग्रह में दिए थे। इस बारे में सबसे पहले दैनिक जागरण ने प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। तबसे ही चर्चा में आए इस परिवार की तरफ मदद के हाथ बढ़ने लगे हैं।