राज्य ब्यूरो, जम्मू: पीडीपी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की छोटी बेटी इरतिका जावेद अपने पासपोर्ट पर अपनी मां के नाम में बदलाव करना चाहती हैं। इस संबंध में उन्होंने एक समाचार पत्र में नोटिस भी प्रकाशित कराया है। इसमें कहा गया है कि वह अपने पासपोर्ट में महबूबा मुफ्ती के स्थान पर महबूबा सईद करना चाहती हूं।

महबूबा मुफ्ती और उनके पति जावेद इकबाल शाह साथ नहीं रहते हैं। शादी के करीब तीन साल बाद ये दोनों अलग हो गए थे। महबूबा की शादी साल 1984 में हुई थी। वह पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में चार अप्रैल 2016 से 19 जून 2018 तक मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। उनके पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद भी दो बार जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री रहे हैं।

61 वर्षीय महबूबा की दो बेटियां इल्तिजा और इरतिका हैं। छोटी बेटी इरतिका अपने पिता के करीब है। बड़ी बेटी इल्तिजा इस समय अपनी मां के नक्शेकदम पर चलकर राजनीति में सक्रिय दिख रही हैं। वह अपनी मां का ट्वीटर अकाउंट भी इस्तेमाल करती हैं। इरतिका इससे दूर ही हैं। महबूबा को गत वर्ष पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर राज्य पुनर्गठन के मद्देनजर एहतियातन हिरासत में लिया गया था। इसके बाद उन पर पीएसए लगा दिया गया। वह अभी भी पीएसए के तहत हिरासत में हैं। यह लिखा है नोटिस में

स्थानीय अखबारों में छपे नोटिस में कहा है, मैं इरतिका जावेद पुत्री जावेद इकबाल शाह निवासी फेयरव्यू हाउस गुपकार रोड श्रीनगर, कश्मीर अपनी मां का नाम अपने पासपोर्ट पर बदलना चाहती हूं। इसमें वह महबूबा मुफ्ती के स्थान पर महबूबा सईद करना चाहती हैं। अगर किसी को इससे संबंधित कोई आपत्ति है तो सात दिनों के अंदर संबंधित अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं।

Edited By: Jagran