जम्मू, जागरण संवाददाता : गर्मी के साथ शहर में बढ़ रही पेयजल किल्लत का संज्ञान लेते हुए मेयर चंद्र मोहन गुप्ता ने कॉरपोरेटर शारदा कुमारी, शाम लाल बस्सन और कमल सिंह जम्वाल के साथ बोरिया फिल्ट्रेशन प्लांट का निरीक्षण किया। बाहूफोर्ट की कालिका कालोनी में स्थित बोरिया फिल्ट्रेशन प्लांट में पहुंचे मेयर ने यहां पानी के भंडारण और विभिन्न क्षेत्रों में आपूर्ति का जायजा लिया। इस मौके पर जल शक्ति विभाग के चीफ इंजीनियर मुनीश भट्ट, बिजली विभाग के चीफ इंजीनियर अश्विनी सचदेवा भी उनके साथ रहे।

मेयर ने कहा कि शहर भर में गर्मी बढ़ने के साथ पेयजल किल्लत भी बढ़ रही है। ऐसे में विभाग ने किस तरह की तैयारी की है इस संबंध में जानकारी ली। मेयर ने दोनों चीफ इंजीनियर्स को निर्देश दिए कि वह प्रभावी कदम उठाएं ताकि लोगों को बिना परेशानी के पानी मिल सके। मेयर ने अधिकारियों से कहा कि वह सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में अवैध तरीके से लगाए गए कनेक्शन कांटें। उन्होंने कहा कि कार वाशिंग, सर्विस स्टेशन में रोजाना हजारों लीटर पानी बर्बाद होता है। इनकी जांच करने की जरूरत है। उनसे फीस वसूल की जानी चाहिए। उन्होंने गलियों से गुजरने वाली पाइपों को बदलने की भी मांग की। इस दौरान बाहूफोर्ट के कॉरपोरेटर शाम लाल व शारदा ने क्षेत्र में पानी की किल्लत को उजागर किया।

छन्नी रामा से कॉरपोरेटर कमल सिंह जम्वाल ने भी पानी के गहराते संकट के संबंध में अधिकारियों को जानकारी दी अौर समाधान की मांग की। मेयर ने अधिकारियों से कहा कि कॉरपोरेटर द्वारा उठाए गए मसलों को गंभीरता से लें ताकि जनता को राहत प्रदान की जा सके। वहीं मेयर ने वार्ड नंबर 29 के कॉरपोरेटर सुरेंद्र चौधरी व इन अधिकारियों के साथ शक्ति नगर पंपिंग स्टेशन का भी दौरा किया। उन्होंने शक्ति नगर, राजपुरा, बख्शी नगर, शिव नगर व साथ लगते क्षेत्रों में लोगों को पेश आ रही पेयजल किल्लत के बारे में जानकारी दी। मेयर ने कहा कि पानी की किल्लत से निपटने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए।