जम्मू, जागरण संवाददाता: जम्मू में वीरवार रात से लगे लॉकडाउन के चलते पिछले चार दिन से बंद पड़ी थोक अनाज मंडियां सुबह चार घंटे के लिए खुली। मंडियां खुलने के साथ ही यहां से जम्मू समेत अन्य जिलों में राशन की सप्लाई शुरू हुई।

चार दिन तक थोक अनाज मंडियों के बंद रहने से जम्मू समेत अन्य जिलों में राशन की किल्लत बनने लगी थी जिसे देखते हुए जिला प्रशासन ने मंगलवार से इन मंडियों में भी राशन की थोक दुकानों को सुबह छह बजे से दस बजे तक खुलने की अनुमति दी थी। ये मंडिया चूंकि चार दिन बाद खुली थी, लिहाजा मंगलवार को यहां पर सामान्य दिनों की तुलना में अधिक कामकाज देखा गया।

जम्मू की सबसे बड़ी अनाज मंडी वेयर हाउस-नेहरू मार्केट की बात करें तो यहां सुबह छह बजे से पहले ही बाहरी राज्यों से आए राशन के ट्रकों की कतारें लग गई थी। चार दिन से मंडी बंद होने के कारण ये ट्रक भी अनलोड नहीं हो पाए थे।

लिहाजा सुबह-सवेरे ही यहां पर अनलोडिंग का काम तेजी पकड़ गया। इसके बाद दुकानदारों ने विभिन्न इलाकों में राशन सप्लाई भेजना शुरू किया। मंगलवार को इस मंडी से करीब 100 ट्रक राशन विभिन्न जिलों में भेजा गया। इसके अलावा पुलिस, सेना, सीआरपीएफ व बीएसएफ की विभिन्न कंपनियों के लिए भी आज राशन सप्लाई भेजी गई। यह सप्लाई भी पिछले चार दिनों से रूकी हुई थी।

उधर पुराने शहर की कनक मंडी में भी मंगलवार सुबह किरयाना की थोक दुकानें चार घंटे के लिए खुली और खुदरा दुकानदारों ने जरूरी सामान की खरीदारी की। ट्रेडर्स फेडरेशन वेयर हाउस-नेहरू मार्केट के प्रधान दीपक गुप्ता के अनुसार पिछले चार दिनों से मंडी के किरयाना दुकानदारों को विभिन्न जिलों से राशन की मांग आ रही थी।

मंडी के अधिकतर दुकानदारों ने फोन पर आर्डर लिए थे ताकि दुकानदारों को मंडी में आने की जरूरत न पड़े और मंडी में भीड़ भी न हो। जिनके पास जितने आर्डर थे, उनकी सप्लाई भेजना शुरू कर दी गई है। अगले एक-दो दिन में राशन सप्लाई पूरी तरह से सुचारू हो जाएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021