जम्मू, राज्य ब्यूरो: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि शहरों के आसपास के इलाकों वाले अस्पतालों में ऑक्सीजन के सिलेंडर वाले कोविड बेड की संख्या को बढ़ाया जाए। उन्होंने अस्पतालों में पहुंचने वाले मरीजों की प्रभावी तरीके से जांच कर कोरोना का पता लगाए जाने पर जोर देते हुए कहा अस्पतालों की रेफर नीति को प्रभावी तरीके से लागू किया जाए।

आम लोगों तक आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई सुचारू होनी चाहिए। जम्मू कश्मीर में कोरोना से उपजे हालात की समीक्षा करते हुए उपराज्यपाल ने रोज आने वाले मामलों, टेस्ट की क्षमता , मरीजों के ठीक होने की दर और सक्रिय मामलों पर विचार-विमर्श किया। उन्होंने मांग के अनुसार ऑक्सीजन की सप्लाई, अस्पतालों में बेड की क्षमता, वैक्सीनेशन के अभियान और जिला आधार पर कंटेनमेंट जोन पर भी विचार विमर्श किया।

उपराज्यपाल ने निर्देश दिए कि आसपास के अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर वाले बैड की संख्या को बढ़ाया जाए। उपराज्यपाल ने आवश्यक वस्तुओं के स्टॉक जिसमें राशन, सब्जियां और अन्य वस्तुएं शामिल हैं, की समीक्षा की। जम्मू के डिविजनल कमिश्नर राघव लंगर ने उपराज्यपाल को बताया कि सुबह के समय में सब्जी की मंडियां खोली जाती हैं ताकि आम लोगों को सब्जी लेने में परेशानियों का सामना ना करना पड़े। बताते चलें कि सरकार ने संकट प्रबंधन ग्रुप का गठन पहले से किया है जो कोरोना से उपजे हालात की निगरानी करके प्रभावी कदम उठा रहा है।

बैठक में मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम, वित्त विभाग के वित्त आयुक्त अरुण कुमार मेहता, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्तीय आयुक्त अटल डुल्लु, गृह विभाग के प्रमुख सचिव शालीन काबरा, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव शैलेंद्र कुमार व अन्य अधिकारी शामिल थे।

 

Edited By: Rahul Sharma