श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : शेरे-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में लेफ्टिनेंट गवर्नर (एलजी) रोलिंग क्रिकेट ट्राफी 2022 का आगाज हो गया। यह जम्मू कश्मीर की सबसे बड़ी खेल प्रतियोगिता है। इसमें हिस्सा लेने के लिए प्रदेश के विभिन्न जिलों से 38 हजार युवाओं ने अपना पंजीकरण कराया है। प्रतियोगिता का आयोजन मिशन यूथ और युवा सेवा एवं खेल विभाग संयुक्त रूप से कर रहा है।

शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में आयोजत एलजी रोलिंग क्रिकेट ट्राफी का उद्घाटन करने बाद मुख्य सचिव डा. अरुण कुमार मेहता ने उपस्थित खिलाड़ियों व अन्य लोगों को नशा मुक्ति की शपथ दिलाई। मुख्य सचिव ने प्रतियोगिता में भाग ले रहे युवाओं से बुजुर्गाें व अन्य लोगों को भी इसमें शामिल करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में हार जीत से ज्यादा महत्वपूर्ण खेलों में भाग लेना होता है। प्रतियोगिता का परिणाम कुछ भी हो, सच तो यह है कि खेल में भाग लेने वाला हरेक खिलाड़ी चैंपियन होता है।

आज का दिन हम सभी के लिए हर्ष का दिन है। इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए प्रदेश के करीब 38 हजार युवाओं ने अपना पंजीकरण कराया। हमारा लक्ष्य है कि आने वाले दिनों में 33 लाख युवा अपनी मर्जी के मुताबिक किसी खेल में हिस्सा लें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसी भी खेल या सांस्कृतिक गतिविधि में भाग लेने वाला प्रत्येक व्यक्ति को मदद प्रदान करेगी।

उन्होंने बताया कि जल्द ही प्रदेश में गीत-संगीत, नृत्य, पेंटिंग समेत विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। प्रदेश में उपलब्ध खेल सुविधाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि 57 स्टेडियम हैं, जहां दिन-रात मुकाबले हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपनी ऊर्जा को पढ़ाई और खेल में लगाना चाहिए।

क्या है एलजी रोलिंग ट्राफी : जम्मू कश्मीर के युवाओं को राष्ट्रविरोधी तत्वों की चंगुल से बचाते हुए उनकी ऊर्जा को रचनात्मक गतिविधियों में लगाने व उनकी खेल प्रतिभा निखारने के लिए एलजी रोलिंग ट्राफी प्रतियोगिता की शुरुआत की गई है। यह उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की निजी पहल से शुरू हुई है। यह प्रतियोगिता प्रदेश के 19 से 35 वर्ष तक के आयु वर्ग के लेागों के लिए है। यह टी-20 प्रतियोगिता तीन चरणों में खेली जाती है। पहले चरण में प्रदेश में 186 फिजिकल एजुकेशन में स्थानीय खिलाड़ियों के बीच होती है, उसके आधार पर उनका पंजीकरण होता है।

दूसरे चरण में जोनल स्तर पर क्रिकेट टीमों का विशेषज्ञों द्वारा चयन किया जाता है, जो जिला स्तर पर खेलती हैं। जिला स्तर पर होने वाले मुकाबलों में चुनी गई श्रेष्ठ टीमों को प्रदेश स्तर पर अपने जिले का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलता है। अंतिम चरण में सभी 20 जिलों की 20 टीमें भाग लेती हैं। प्रदेश स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता में शामिल सभी 20 टीमों के खिलाड़ियों के रहने-खाने-पीने और खेल सामग्री की सुविधा युवा सेवा एवं खेल विभाग की ओर से प्रदान की जाती है। द्वारा प्रदान की जाती है। 

Edited By: Rahul Sharma