श्रीनगर, जेएनएन : उत्तरी कश्मीर के सोपोर में रफियाबाद के रोहामा इलाके से सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकवादी को गिरफ्तार करने का दावा किया है। गिरफ्तार आतंकवादी से हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुआ है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि लश्कर-ए-तैयबा का यह आतंकी यहां छिपकर सुरक्षाकर्मियों और वीआइपी पर हमला करने की योजना बना रहा था। समय रहते इसकी गिरफ्तारी ने बड़े हमले की योजना को विफल बना दिया है।

पुलिस अधिकारी ने आतंकी की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि इस गिरफ्तारी से एक बड़े हमले की योजना को विफल कर दिया गया है। लश्कर के इस आतंकी की पहचान रिजवान शफी लोन पुत्र मोहम्मद शफी लोन निवासी शौगपोरा, मगाम हंदवाड़ा के रूप में हुई है। प्राथमिक पूछताछ में यह बात पता चली है कि पाकिस्तान में बैठे लश्कर-ए-तैयबा के आकाओं ने इसे सुरक्षाकर्मियों और वीआइपी पर हमला करने की जिम्मेदारी सौंपी थी।

अधिकारियों ने बताया कि रिजवान को 13 मई की रात को ही गिरफ्तार कर लिया गया था। उन्हें सूचना मिली कि लश्कर-ए-तैयबा का यह आतंकी रफियाबाद के रोहामा इलाके में छिपा हुआ है और हमले की योजना बना रहा है। सूचना मिलते ही एसओजी के जवान सेना की 32 आरआर और सीआरपीएफ की 92 बटालियन की संयुक्त टीम के साथ इलाके में पहुंचे और तलाशी अभियान शुरू कर दिया। सुरक्षाकर्मियों के एक दल ने जब उस जगह पहुंचा जहां रिजवान छिपा हुआ था, वह घबरा गया। सुरक्षाकर्मी उसकी बौखलाहट को समझ गए और उसे अपनी हिरासत में लिया। उसकी तलाशी ली गई तो उसके पास से एक पिस्तौल, उसकी एक मैगजीन और पांच गोलियां बरामद हुई।

पूछने पर रिजवान ने बताया कि वह लश्कर-ए-तैयबा का सक्रिय आतंकी है। उसे सुरक्षाबलों व वीआइपी पर हमला करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। पुलिस अधिकारी ने कहा कि आतंकवादी की गिरफ्तारी से उत्तरी कश्मीर में एक बड़ी घटना टल गई। पुलिस ने यह जानकारी भी दी कि रिजवान इससे पहले वर्ष 2017 और 2018 में कश्मीर में पथराव और आतंकवाद से संबंधित कई मामलों में पकड़ा जा चुका है।

Edited By: Rahul Sharma