जम्मू, जागरण संवाददाता: गांधीनगर के ग्रीन बेल्ट पार्क इलाके में घुस आए तेंदुए को आखिर चार घंटे की कंडी मशक्कत के बाद काबू कर लिया गया। तेंदुए को ट्रैंकुलाइजर गन से बेहोश किया गया और फिर जाला डाल कर पकड़ लिया गया। तेंदुए के हमले में दो वन्यजीव कर्मियों समेत तीन लोग घायल हो गए।

माना जा रहा है कि तेंदुआ रात के समय ही जंगल से भटक कर यहां पाॅश इलाके में पहुंचा होगा। सुबह इसके पार्क में दिखते ही लोगों में जबरदस्त दहशत मच गई। तेंदुआ पार्क में खुलेआम मंडरा रहा था। कई लोगों का पीछा भी किया। सबसे पहले पार्क के माली ने इसे देखा। इसी बीच तेंदुआ साथ लगते पावर हाउस क्षेत्र में घुस गया और वहां एक बुजुर्ग व्यक्ति पर हमला बोल कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसे अस्पताल ले जाया गया।

बुजुर्ग व्यक्ति जोकि मार्बल प्लेट पर नाम लिखने का काम करता है, के सिर और मुंह पर गहरी चोटें आई हैं। वहीं मौके पर पहुंची वन्यजीव संरक्षण विभाग की टीम तेंदुए को पकड़ने में जुट गई। ट्रैंकुलाइजर गन से तेंदुए को बेहोश करते समय एक वन्यजीव कर्मचारी एनीमल कीपर दिलदार, वेटनेनेरी डाक्टर कटोच भी जख्मी हो गया। तेंदुए को बेहोश करते समय तेंदुआ वन्यजीव कर्मचारियों की ओर लपका। ऐसे में एक कर्मी ने लाठियों से तेंदुए का मुकाबला किया।

वही ग्रीन बेल्ट पार्क की मुख्य सड़क पर लोगों का तांता लग गया । वन्यजीव संरक्षण विभाग के वार्डन अनिल अत्री व जंबु जू के वार्डन अमित शर्मा मौके पर पहुंचे। तेंदुए को काबू करने का आप्रेशन आगे बढ़ाया। तेंदुए को ट्रैंकुलाइजर गन शाट से बेहोशी का टीका लगाया गया। उसके बाद तेंदुआ सुस्त होकर पार्क में बने शेड के भीतर दुबक गया।

वन्यजीव संरक्षण विभाग की टीम ने तेंदुए के बेहोश होने के लिए तकरीबन 40 मिनट का इंतजार किया। बाद में जाला डाल कर उसे काबू कर लिया गया। इसी बीच ग्रीन बेल्ट पार्क की सड़क पर लोगों का जमाबाड़ा लग गया और भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस को सख्ती करनी पड़ी। शहर के बीचों बीच तेंदुए के पहुंचने को लेकर सब लोग हैरान हैं।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021