जेएनएन, जम्मू। कश्मीर इक्नामिक एलाइंस (केसीए) के चेयरमैन यासीन खान आज दोपहर बाद घाटी पहुंचे। खान को एनआइए ने दिल्ली स्थित अपने हेड क्वार्टर में पूछताछ के लिए बुलाया था। एनआइए ने लगातार दो दिनों तक उनसे पूछताछ की। कश्मीर इक्नामिक एलाइंस घाटी के विभिन्न व्यापारिक इकाइयों का समूह और खान उसी संगठन के चेयरमैन हैं। एनआइए की टीम टेरर फंडिंग मामले में हुर्रियत नेताओं सहित विभिन्न संगठनों से पूछताछ कर रही है।

यासीन खान के बारे में बताया जाता है कि वह जेकेएलएफ के चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक के करीबियों में एक है। इसके अलावा एनआइए ने टेरर फंडिंग मामले में एक बार फिर कट्टरपंथी सैयद अली शाह गिलानी के बड़े पुत्र डॉ. नईम उल जफर गिलानी को पूछताछ के लिए दिल्ली तलब किया है। उन्हें 22 अप्रैल की सुबह 10.30 बजे दिल्ली स्थित एनआइए कार्यालय में हाजिर होने के लिए कहा गया है। इससे पूर्व गत नौ अप्रैल को डॉ. नईम गिलानी को बुलाया गया था, लेकिन वह दिल्ली नहीं गए थे।

एनआइए ने वर्ष 2017 में कश्मीर में आतंकी हिंसा और अलगाववादी गतिविधियों के लिए पाकिस्तान व अन्य मुल्कों के साथ टेरर फंडिंग का मामला दर्ज किया था। इस मामले में करीब एक दर्जन अलगाववादी नेताओं को हिरासत में लिया जा चु़का है।

एनआइए ने मीरवाइज मौलवी उमर फारूक से भी गत दिनों दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में पूछताछ की थी। सैयद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ फंतोश भी इसी मामले में बीते दो साल से तिहाड़ जेल में बंद हैं। डॉ. नईम गिलानी और उनके छोटे भाई नसीम गिलानी से बीते साल भी एनआइए ने पूछताछ की थी।

 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप