जम्मू, जागरण संवाददाता। लोकसभा चुनावों में प्रचंड जीत दर्ज करने वाली भाजपा सरकार से पनुन कश्मीर ने कश्मीर मामले पर क्रांतिकारी फैसले लेने की गुजारिश की है। कहा है कि घाटी में स्थायी शांति व समस्या के समाधान के लिए कश्मीर के दो भाग कर एक को केंद्र शासित क्षेत्र बनाया जाए। इसी केंद्र शासित क्षेत्र में कश्मीरी पंडितों का होमलैंड बनाने का सपना पूरा हो जिसका ब्यू प्रिंट पहले ही पनुन कश्मीर के पास है।

संवाददाता सम्मेलन में संयोजक डा. अग्निशेखर ने कहा कि कश्मीरी पंडित पिछले तीस सालों से अलगाववाद, जेहादियों, देशद्रोहियों से लड़ रहे हैं। घाटी से बाहर हुए इन कश्मीरी पंडितों की सम्मान जनक घाटी में वापिसी चाहिए। यह होमलैड से संभव होगा जोकि केंद्र शासित क्षेत्र में बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि 30 सालों बाद देश में बहुमत की बड़ी सरकार आई है, ऐसे में अब कोई बहाना नही चल सकता। कश्मीरी पंडितों की सम्मानजनक घर वापिसी व घाटी में स्थायी शांति के लिए केंद्र सरकार को बड़े फैसलें लेने ही होंगे। डा. अग्नि शेखर ने केंद्र सरकार से मांग की कि वे पुनन कश्मीर के नेताओं से बातचीत करे और घाटी में होम लैंड बनाने के लिए ब्यू प्रिंट पर चर्चा करे।

इसी दिशा में चलते हुए कश्मीर में शांति की स्थापना की जा सकेगी। वहीं उन्होंने कहा कि कश्मीर के बारे में देश विरोधी लोगों ने देश दुनियां को गुमराह किया गया है। घाटी में कोई आजादी का आंदोलन नही बल्कि जेहादी आंदोलन चलाया जा रहा है। यहां पर इस्मालिककरण अलगववाद को बढ़ावा देने के लिए देश विरोधी ताकतें काम कर रही हैं। इनको करारा जवाब देने के लिए अब केंद्र सरकार कदम उठाने चाहिए। वहीं पनुन कश्मीर ने केंद्र सरकार से मांग की कि जम्मू के साथ हो रहे भेदभाव को भी दूर किया जाए। मौके पर चेयरमैन अजय चरंगु भी उपस्थित थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस