श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर साेमवार को वादी में किए गए कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच आतंकियों ने दो ग्रेनेड हमले किए। इनमें एक कश्मीरी हिंदु और एक पुलिसकर्मी समेत दो लोग जख्मी हो गए। पहला हमला बड़गाम जिले के गोपालपोरा में और दूसरा श्रीनगर में पुलिस नियंत्रण कक्ष पर हुआ है। हमलों की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा का हिट स्क्वाड कहे जाने वाले द रजिस्टेंस फ्रंट टीआरएफ ने ली है। इन हमलों में लिप्त आतंकियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर दो अलग-अलग तलाशी अभियान चलाए हैं।

बीते चौबीस घंटों के दौरान कश्मीर में तीन ग्रेनेड हमले हुए हैं। इससे पूर्व बीती रात आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के हाल पुलवामा में स्थित विस्थापित कश्मीरी हिंदू ट्रांजिट कालोनी पर ग्रेनेड से हमला किया था। इस हमले में किसी प्रकार का नुक्सान नहीं हुआ था।

यहां मिली जानकारी के अनुसार, बडगाम जिले के गोपालपोरा में आज सूर्यास्त के बाद आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड से हमला किया। ग्रेनेड सुरक्षाबलों से दूर सड़क पर गिरा और इससे हुए धमाके में कर्ण कुमार सिंह पुत्र अनिल कुमार सिंह जख्मी हो गया। उसकी टांगों औरबाजू में में ग्रेनेड से निकले छर्रे लगे हैं। स्थानीय लोगों ने उसे सुरक्षाबलों की मदद से उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी हालत स्थिर और खतरे से बाहर बताई जाती है। कुछ लोगों के मुताबिक, आतंकियों ने ग्रेनेड वहां कश्मीरी हिंदुओं की कालोनी पर फेंका था,लेकिन पुलिस ने इस तथ्य की पुष्टि नहीं की है।

बड़गाम में ग्रेनेड हमले के चंद ही मिनट बाद रात नौ बजे के करीब आतंकियों ने श्रीनगर में पुलिस नियंत्रण कक्ष पर ग्रेनेड से हमला किया। ग्रेनेड नियंत्रण कक्ष के बाहरी हिस्से में गिरा और एक जोरदार धमाके के साथ फट गया। इसमें एक पुलिसकर्मी जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए निकटवर्ती अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस ने इन दोनों घटनाओं के संदर्भ में अलग अलग मामले दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है। इन हमलो में लिप्त आतंकियों की धरपकड़ के लिए गोपालपोरा और श्रीनगर के बटमालू, कर्णनगर, आलूचीबाग और मगरमलबाग इलाके में सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान भी चलाया। 

Edited By: Vikas Abrol