राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में शुक्रवार को नमाज-ए-जुमे के बाद राष्ट्रविरोधी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई ¨हसक झड़पों में छह लोग जख्मी हो गए। घायलों में एक डीएसपी (पुलिस उपाधीक्षक) समेत दो पुलिसकर्मी भी हैं। ¨हसक भीड़ ने शोपियां में सत्ताधारी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के मुख्य सचेतक के एडवोकेट मुहम्मद यूसुफ बट के मकान पर भी पथराव किया।

उम्मीद के विपरीत डाउन-टाउन में एतिहासिक जामिया मस्जिद में नमाज-ए-जुम्मे के बाद स्थिति लगभग शांत रही। कुछ युवकों ने जुलूस निकालने का प्रयास करते हुए राष्ट्रविरोधी नारेबाजी भी की। वह जामिया मस्जिद के बाहरी परिसर से आगे नहीं आए। दोपहर बाद नवाकदल और साथ सटे इलाकों में कुछ युवकों ने भड़काऊ नारेबाजी करते हुए वहां तैनात सुरक्षाबलों पर पथराव किया। सुरक्षाबलों ने पहले तो संयम बनाए रखा, लेकिन जब पथराव तेज होने लगा तो उन्होंने हल्का बल कर पथराव कर रही भीड़ को खदेड़ दिया। अनंतनाग में जंगलात मंडी , चीनी चौक व शेरपोरा इलाके में स्थानीय युवकों ने आजादी समर्थक और जिहादी नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाले। पुलिस के रोकने पर पथराव शुरू हो गया। ¨हसक हुए प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। बताया जाता है कि एक पुलिसकर्मी और एक प्रदर्शनकारी जख्मी हुए। अनंतनाग से सटे जिला शोपियां में भी नमाज के बाद ¨हसा भड़क उठी। ¨हसक भीड़ ने मीमंदर इलाके में सत्ताधारी दल के मुख्य सचेतक और विधायक एडवोकेट मुहम्मद युसुफ के मकान पर पथराव किया। विधायक के घर पर हमले की सूचना मिलते ही एक पुलिस दल मौके पर पहुंचा। भीड़ ने उस पर भी पथराव किया जिसमें एक डीएसपी व एक अन्य पुलिसकर्मी जख्मी हो गया। पुलिस ने लाठियां भांजी और आंसूगैस के गोले दागे। इसमें एक प्रदर्शनकारी जख्मी हो गया। देर शाम गए तक मीमंादर इलाके में पुलिस व प्रदर्शनकारियों में ¨हसक झड़पें जारी थी। इस बीच, विधायक मुहम्मद यूसुफ बट ने कहा कि जिस समय यह घटना हुई, उस समय मैं श्रीनगर में था। मेरा परिवार सुरक्षित है। पुलिस ने विधायक के मकान की सुरक्षा बढ़ा दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस