राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : आतंकियों में एक बार फिर गुटीय संघर्ष शुरू हो चुका है। अल बदर के एक स्थानीय आतंकी को कथित तौर पर उसके साथियों ने पीट पीट कर मार डाला और उसका शव कश्मीर की प्रमुख जियारत में फेंक दिया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

मारे गए आतंकी का नाम आमिर अहमद मलिक है। वह शोपियां के हैदरगुंड, जेनपोरा का रहने वाला था। अक्टूबर 2019 से सक्रिय आमिर अहमद को सुरक्षाबलों ने सी-श्रेणी के आतंकियों की सूची में रखा हुआ था। वह तीन लाख का इनामी था। पुलिस अधिकारियों ने उसकी हत्या के कारणों का खुलासा नहीं किया है, लेकिन गुटीय संघर्ष की संभावना जताई है। उसके शव पर गोली का कोई निशान नहीं था।

उसका शव श्रीनगर के सौरा इलाके में स्थित महान सूफी संत जनाब साहब सौरा की जियारतगाह के परिसर में पड़ा हुआ था। देर शाम का कुछ लोगों ने उसे देख पुलिस को सूचित किया था। सूत्रों की मानें तो आमिर की हत्या के पीछे एक लड़की का कनेक्शन है।

पुलिस ने इसकी कोई पुष्टि नहीं की है, लेकिन सूत्रों ने बताया कि सौरा से सटे एक क्षेत्र विशेष की रहने वाली किसी लड़की के साथ कथित तौर पर उसका प्रेम सबंध था और उसे लेकर ही उसके अपने साथियों से झगड़ा हुआ और वह मारा गया। इसके साथ ही लड़की के स्वजन द्वारा उसे पीट कर मौत के घाट उतारे जाने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता। पुलिस उसकी हत्या के कारणों के अलावा यह भी जांच कर रही है कि वह श्रीनगर कब और कैसे आया था। 

Edited By: Rahul Sharma