सांबा, जेएनएन। जम्मू संभाग के सांबा सेक्टर के मंगूचक इलाके में सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कर आए एक पाकिस्तानी को मार गिराया। मध्यरात्रि को पाकिस्तानी की ओर से मंगूचक पोस्ट के सामने से एक घुसपैठिया भारतीय क्षेत्र की ओर आ रहा था। बीएसएफ की 143वीं वाहिनी के जवानों ने उसे पहले ललकारा, लेकिन जब वह तब भी नहीं रुका तो उसे वहीं पर ढेर कर दिया। सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी रेंजरों से संपर्क कर शव को ले जाने के लिए कहा, लेकिन पाकिस्तानी रेंजरों ने यह कहकर मना कर दिया कि यह उनके देश का नागरिक ही नहीं है।

जानकारी हो कि काफी इंतजार के बाद शुक्रवार देर शाम को सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने शव को अपने कब्जे में लिया। सीमा सुरक्षा बल के उच्च अधिकारी भी मंगूचक में पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। मृतक की उम्र लगभग पचास वर्ष बताई जा रही है। इससे अधिक उसकी पहचान नहीं हुई है। उससे कोई हथियार या गोलाबारूद नहीं मिला है।

सूत्रों के मुताबिक मारा गया संदिग्ध आतंकवादियों का गाइड हो सकता है, जो आतंकवादियों को भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करवाने की कोशिश में था।

घुसपैठ करवाने की फिराक में पाकिस्तान सांबा:

सर्दी में धुंध की आड़ में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आतंकियों की घुसपैठ की पूरी ताक में रहता है। इस बार भी पाकिस्तान ऐसा ही करने की कोशिश की, लेकिन सुरक्षा बलों ने उसे ढेर कर दिया। पिछले कुछ दिनों से सीमा के उस पार कई गतिविधियां दिखाई दे रही थीं। अंतरराष्ट्रीय सीमा के उस पार तीन से चार के ग्रुप में कुछ संदिग्ध इधर उधर घूमते हुए दिखाई दिए जा रहे थे।

बीएसएफ अधिकारी का कहना है कि घुसपैठिए का शव अभी भी जीरो लाइन पर पड़ा हुआ है। बारिश व धुंध होने के कारण शव को उठाया नहीं जा सका है। जानकारी हो कि सरकार ने लोकसभा में बताया कि अगस्त में जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे संबंधी अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त किये जाने के बाद नियंत्रण रेखा पर सीमा पार से घुसपैठ के 84 प्रयास किये गए और इनमें 59 आतंकवादियों के घुस आने की आशंका है।

गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि साल 1990 से एक दिसंबर 2019 तक सुरक्षा बलों द्वारा 22,557 आतंकवादियों को मार गिराया गया है। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने साल 2005 से लेकर 31 अक्‍टूबर 2019 तक सीमापार से घुसपैठ के प्रयासों के दौरान 1011 आतंकवादी मारे गए और 42 आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान 2253 आतंकवादियों को वापस भगाया गया।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस