राज्य ब्यूरो, जम्मू : प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान जीए मीर ने कहा कि कश्मीरी पंडितों के बिना कश्मीर और कश्मीरियत अधूरी है। कश्मीरी विस्थापित पंडितों की सम्मानजनक वापसी और पुनर्वास के लिए कांग्रेस हर संभव कदम उठाएगी। कांग्रेस कश्मीरी पंडितों के लिए एक सुरक्षित वातावरण उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध है। जब तक यह लक्ष्य हासिल नहीं हो जाता है तब तक कश्मीरी विस्थापित पंडितों को हर संभव सुविधाएं मिलनी चाहिए।

मोदी सरकार के साथ राज्य की पूर्व पीडीपी-भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए मीर ने कहा कि प्रधानमंत्री के पैकेज के तहत कश्मीरी विस्थापित युवाओं को नौकरियां दिलाने में क्या किया गया, इसकी जानकारी दी जाए। मुट्ठी और जगटी में कश्मीरी विस्थापित पंडितों से समर्थन हासिल करने के लिए पहुंचे मीर ने कहा कि कश्मीरी विस्थापित पंडितों के पुनर्वास और समस्याओं के समाधान के लिए सरकार ने कुछ नहीं किया।

अनंतनाग संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे मीर ने भाजपा पर लोगों को क्षेत्रवाद और धार्मिक आधार पर बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश में धर्मनिरपेक्ष ताकतों को मजबूत करने की जरूरत है।

कांग्रेस और नेशनल कांफ्रेंस ने मिल कर इसलिए चुनाव लड़ने का फैसला किया है ताकि फूट डालने वाली ताकतों को दूर रखा जा सके। कांग्रेस ने हमेशा ही राज्य के तीनों क्षेत्रों के बराबर विकास के लिए काम किया है। पूर्व मंत्री मुलाराम ने कहा कि भाजपा अनुच्छेद 370 और 35 ए के मुद्दे पर सस्ती राजनीति कर रही है। दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने के मोदी सरकार के दावे खोखले साबित हुए है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस