राज्य ब्यूरो, जम्मू : करीब 13 घंटे खुलने के उपरांत रविवार दोपहर बाद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग रामबन के पास भूस्खलन के कारण फिर बंद हो गया। इससे सैकड़ों ट्रक व यात्री वाहन हाईवे पर फंस कर रह गए हैं। रास्ते में जगह-जगह वाहनों की लंबी कतारें लगी हुई हैं।

जम्मू कश्मीर में गत वीरवार और शुक्रवार को भारी बर्फबारी से जम्मू श्रीनगर हाईवे दो दिन बंद रहा था। इसके बाद से कई जगह भूस्खलन हो रहा है। पिछले चार दिन से हाईवे कई बंद हो चुका है। रविवार तड़के तीन बजे जम्मू-श्रीनगर हाईवे यातायात के लिए खोला गया। सबसे पहले हाईवे के दोनों ओर फंसे सैकड़ों छोटे वाहनों को निकाला गया। इसके बाद जरूरी सामान से लदे ट्रकों को कश्मीर के लिए छोड़ा गया। लेकिन दोपहर बाद करीब चार बजे रामबन से करीब दो किलोमीटर पहले महार में भूस्खलन के कारण राजमार्ग पर यातायात को बंद करना पड़ा। यहां करीब सौ मीटर सड़क पर पहाड़ों से मलवा व चट्टानें गिरी हैं। इसके बाद सड़क को साफ करने के लिए काम शुरू किया गया, लेकिन देर शाम तक मलबा हटाया नहीं जा सका था। ट्रैफिक कंट्रोल रूम रामबन के अनुसार, हाईवे खुलने में अभी आठ से दस घंटे लग सकते हैं। सुबह जो वाहन छोड़े गए थे और वे जवाहर टनल को पार कर चुके हैं, लेकिन दोपहर बाद राजमार्ग बंद होने के कारण करीब 1300 छोटे बड़े वाहन फंस गए। मुगल रोड़ पांचवें दिन भी बंद :

पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के साथ जोड़ने वाला मुगल रोड़ रविवार को लगातार पांचवें दिन भी बंद रहा। पीर की गली से शोपियां के बीच भारी बर्फबारी होने के कारण यह मार्ग बंद हो गया था। यहां भी वाहन रोके गए हैं। पहाड़ों पर फिर बर्फबारी :

कश्मीर के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में शनिवार रात फिर हुई ताजा बर्फबारी के कारण ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। श्रीनगर में बर्फीली हवाएं चलती रहीं। दोपहर को काले बादल छा जाने से अंधेरा छा गया। मौसम विभाग ने कश्मीर में 13 नवंबर तक मौसम खराब रहने की आशंका जताई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप