जम्मू, जेएनएन। श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर दूसरे दिन भी कई जगह भूस्खलन होने से वाहनों की आवाजाही बंद रही। ट्रैफिक विभाग ने बताया कि श्रीनगर के पहाड़ी इलाकों में अभी भी बारिश हो रही है। 434 किलोमीटर लंबा श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग जो कश्मीर घाटी को लद्दाख से जोड़ता है, पर शुक्रवार तड़के एक बार फिर भूस्खलन हो गया, जिसकी वजह से दूसरे दिन भी वाहनों को मार्ग पर उतरने की इजाजत नहीं दी। वहीं मुगल रोड पर हुए भूस्खलन को हटा दिया गया है और वहां वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। मुगल रोड पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां से जोड़ता है।

 

ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि वीरवार को जोजिला पास में बादल फटने के बाद कई जगह भूस्खलन होने के कारण राजमार्ग बंद करना पड़ा था। बीआरओ कर्मचारियों ने बारिश के बीच मलवे को हटाने का काम जारी रखा। दोपहर बाद राजमार्ग को एक तरफा वाहनों की आवाजाही के लिए कुछ घंटों के लिए खोला गया परंतु ताजा भूस्खलन होने के कारण इसे फिर से बंद करना पड़ा।

 

ट्रैफिक विभाग के अनुसार जोजिला पास मार्ग पर अभी भी भूस्खलन हो रहा है और कई स्थानों पर पत्थर भी गिर रहे हैं। ऐसे में यह यात्रियों व वाहन चालकों के लिए खतरे का सबब बन सकता है। जब तक पूरे मार्ग से मलवा हट नहीं जाता और लोगों के लिए यह मार्ग सुरक्षित नहीं हो जाता, वाहनों को इस पर उतरने की इजाजत नहीं दी जाएगी। बीआरओ अधिकारियों ने बताया कि मशीनों व कर्मियों की मदद से मलवे को हटाने का काम जारी है। ट्रैफिक विभाग के अनुसार इस मार्ग पर अभी भी काफी संख्या में वाहन फंसे हुए हैं। फिलहाल उन्हें वहां से निकाल सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है।

 

वहीं ऐतिहासिक मुगल रोड पर वीरवार को हुए भूस्खलन के बाद सड़क पर पड़े मलवे को हटा लिया गया है और वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित कर दी गई है। इस मार्ग पर कई जगह बारिश हो रही है। ट्रैफिक विभाग स्थिति पर नजर रखे हुए है। डीटीआई पुंछ नियाज अहमद ने कहा कि फिलहाल स्थिति बेहतर है और वाहनों की आवाजाही जारी है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस