श्रीनगर,राज्य ब्यूरो। जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बलों के संयुक्त अभियान में मंगलवार को राज्य के कुलगाम के यारीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने एक घर से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है। इस मामले में यारीपोरा के मोहम्मद अयूब के रूप में पहचाने गए एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बलों के जवान ने कुलगाम में एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। जानकारी के अनुसार, सुरक्षा बलों ने परिसर से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है, जिसमें ग्रेनेड और आर्म्स भी शामिल थे। जानकारी हो कि छापेमारी विश्वसनीय सूचना के आधार पर की गई थी। पुलिस ने इस मामले में यारीपोरा के मोहम्मद अयूब के रूप में पहचाने गए एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है। इस मामले के संबंध में मामला दर्ज होने के बाद पुलिस जांच शुरू की गई है।

सुरक्षाबलों ने कई जगह चलाया कासो, संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

जानकारी हो कि

वादी में सुरक्षाबलों ने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते हुए राजबाग और हारवन से लेकर दक्षिण कश्मीर के पुलवामा व बदरु, कुलगाम तक आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर कासो चलाते हुए बदरु में एक संदिग्ध आतंकी को हथियारों के जखीरे के साथ पकड़ लिया। इस दौरान पुलवामा और बदरु में सुरक्षाबलों व आतंकी समर्थक तत्वों के बीच हिंसक झड़पें भी हुई।

मंगलवार सुबह राष्ट्रीय राइफल्स, राज्य पुलिस विशेष अभियान दल और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने दक्षिण कश्मीर के बदरु, कुलगाम में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर कासो (घेराबंदी करते हुए घर-घर तलाशी लेना) चलाया। जवानों ने गांव में आने-जाने के सभी रास्ते बंद करते हुए आतंकियों का ठिकाना होने के संदेह में कई मकानों की तलाशी ली। इस दौरान आतंकी समर्थक तत्वों ने भड़काऊ नारेबाजी करते हुए कासो का विरोध किया, लेकिन जब सुरक्षाबलों ने उन पर कोई ध्यान नहीं दिया तो वे पथराव करने लगे। सुरक्षाबलों ने इस पर लाठियों और आंसूगैस का इस्तेमाल करते हुए उन्हें खदेड़ते हुए तलाशी अभियान जारी रखा।

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि दोपहर बाद सुरक्षाबलों को गांव में उस समय सफलता मिली जब मोहम्मद अयूब राथर नामक एक संदिग्ध आतंकी पकड़ा गया। उसकी निशानदेही पर सुरक्षाबलों ने एक ग्रेनेड, एक यूबीजीएल, एसाल्ट राइफल के आठ कारतूस और पिस्तौल के सात कारतूस भी बरामद किए हैं। फिलहाल उसके खिलाफ यारीपोरा, कुलगाम पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया गया और देर शाम तक उससे पूछताछ जारी थी। इसी दौरान पुलवामा के लारीबल काकपोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर के तीन आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर कासो चलाया, लेकिन जवानों के गांव में घुसते ही बड़ी संख्या में स्थानीय युवकों ने जेहादी नारे लगाते हुए सुरक्षाबलों पर पथराव शुरू कर दिया।

जवानों ने भी इस पर लाठियों और आंसूगैस का सहारा लेते हुए उन्हें खदेड़ने का प्रयास किया, लेकिन स्थिति और बिगड़ गई। कुछ ही देर में पूरे इलाके में हिंसक झड़पें शुरू हो गई, जो देर शाम तक जारी थीं। लेकिन  हिंसक झड़पों के बावजूद सुरक्षाबलों ने कासो अभियान जारी रखा था।

इधर, श्रीनगर के भीतर संभ्रांत माने जाने वाले कुरसु-राजबाग में दो आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलते ही पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने पूरे इलाके को घेरते हुए कासो चलाया। सुरक्षाबलों ने करीब दो घंटे तक सभी संदिग्ध मकानों की तलाशी ली, लेकिन आतंकियों का सुराग नहीं मिलने पर उन्होंने कासो समाप्त कर दिया। इससे पूर्व सुबह सुरक्षाबलों ने हारवन के खार मोहल्ला व गंडताल इलाके में कासो चलाया, लेकिन इसमें किसी आतंकी या उनके किसी ओवरग्राउंड वर्कर के पकड़े जाने की कोई सूचना नहीं है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस