जागरण संवाददाता, ऊधमपुर: मौसम की मार से प्रभावित जम्मू श्रीनगर हाईवे रविवार को वाहनों के लिए खुलने के कुछ ही घंटों के बाद फिर से बंद हो गया। डीटीआई ऊधमपुर हरमोहिद्र सिंह ने बताया कि शनिवार को सब्जियां, अंडे, मुर्गी व बकरे आदि फ्रेश माल ले जाने वाले वाहनों को घाटी के लिए छोड़ा तो गया, लेकिन शाम को मिहाड़ में भारी भूस्खलन हो गया, जिससे रास्ता बंद हो गया। इस मलबे को मध्यरात्रि को हटा कर वाहनों को निकाला गया, जिसके बाद रविवार सुबह यात्री वाहनों को घाटी के लिए रवाना किया। साथ ही फ्रेश चीजें लेकर जाने वाले ट्रकों व तेल के टैंकरों को भी छोड़ा गया। दोपहर 12 बजे ट्रकों को छोड़ा गया, मगर इसी बीच सवा एक बजे के करीब डिगडोल में काफी बड़ा भूस्खलन हो गया। तकरीबन 50 से 60 मीटर क्षेत्र में मलबा गिरने से रास्ता बंद हो गया। इसके बाद ट्रकों को चिनैनी और ऊधमपुर में रोक लिया गया। इसके साथ ही नड की तरफ रोके गए ट्रक भी आगे रवाना हो चुके थे। यह धार रोड पर ऊधमपुर जिला में पहुंच गए थे। इन सभी वाहनों को गोल मेला से हाईवे पर मोड़ा गया।

अचानक यातायात को रोकने की वजह से चिनैनी और धार रोड पर कई जगह पर घंटों जाम की स्थिति रही, जिससे लोगों को परेशानी हुई। मगर शाम तक दोनों जगह पर वाहनों के जाम को खुलवा दिया गया। डीटीआई ने बताया कि जितनी बड़ी स्लाइड आई है, उसे देख कर नहीं लगता सोमवार शाम से पहले यातायात बहाल हो सकेगा। उन्होंने बताया कि इस समय ऊधमपुर जिला की सीमा में 3500 से चार हजार ट्रक व अन्य वाहन फंसे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप